Bewafa Dard Bhari Shayari

Bewafa Dard Bhari Shayari

Bewafa Dard Bhari Shayari (2021) | Latest {349+} दर्द भरी बेवफा शायरी



Bewafa Dard Bhari Shayari – Bewafa Dard Bhari Shayari, Bewafa Dard Bhari Shayari, Dard Bhari Bewafa Shayari, Gam Bhari Shayari, Boy Dard Bhari Bewafa Shayari, Bewafa Dard Bhari Shayari, Dard Bhari Bewafa Shayari In Urdu, Dard Bhari Shayari Urdu, Dard Bhari Shayari Bewafa, Bewafa Shayari Video, Dard Bhari Bewafa Shayari Hindi, Bewafa Dard Bhari Shayari, Dard Bhari Bewafa Shayari 140 Words, Dard Bhari Shayari In Hindi Font 140, Dard Bhari Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend, Dard Bhari Bewafa Shayari In English, Dard Bhari Bewafa Shayari 2 Line, Dard Bhari Bewafa Shayari Urdu, Aansoo Dard Bhari Bewafa Sad Bewafa Shayari In Urdu, Bewafa Shayari Dard Bhari



#वो छोड़ के गए हमें,
# न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी !


Vo chod ke gaye hame,
Na jane unki kya majburi thi,
Khuda ne kaha usme unka koi kasur nahi,
Ye kahani to maine llikhi hi adhuri thi.



क्या अजीब था उनका मुझे छोड़ के जाना,
सुना कुछ नहीं और कहा भी कुछ नहीं,
# कुछ इस तरह बर्बाद हुए उनकी मोहब्बत में,
लुटा भी कुछ नहीं और बचा भी कुछ नहीं।



Kya ajeeb tha unka muje chod ke jana,
Suna kuch nahi aur kaha bhi kuch nahi,
Kuch is tarah barbad hue unki mahobbat main,
Luta bhi kuch nahi aur bacha bhi kuch nahi



पल-पल उसका साथ निभाते हम,
एक इशारे पर दुनिया छोड़ जाते हम,
समन्दर के बीच में फरेब किया उसने,
कहते तो किनारे पर ही डूब जाते हम 💕



Pal – Pal uska sath nibhate ham,
Ek isare par duniya chod jate hain,
Samndar ke bich me fareb kiya usne,
Kahte to kinare par hi dub jate ham.



करूँ तेरा ज़िक्र या अहसासों में रहने दूँ।
करूँ तुझे महसूस या धड़कन में बहने दूँ।
तुझे लफ्जों में करूँ बयां या “इबादत” में रहने दूँ।



Karu tera jikra ya ahsaso me rahne du,
Karu tuje mahssus ya dhadkan me bahne du,
Tuje lafjo me karu baya ya ibadat me rahne du.



मैं ख़ामोशी हूँ तेरे मन की,
तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा,
मैं एक उलझा लम्हा हूँ,
तू रूठा हुआ हालात मेरा



Main khamoshi hu tere man ki,
Tu ankaha alfaj mera,
Me ek ulja lamha hu,
Tu rutha hua halat mera.



इश्क करना तो लगता है जैसे,
#मौत से भी बड़ी एक सजा है,
#क्या किसी से शिकायत करें हम,
जब अपनी तकदीर ही बेवफा है।



Ishaq karna to lagta hain jaise,
Maut se bhi badi ek saja hain,
Kya kisi se sikayat kare ham,
Jab apni takdeer hi bewfa hain.



दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे,
#यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बैठे।



Dil se roye magar hotho se muskura baithe,
Yu hi ham kisi se vafa nibha baithe,
Vo hame ek lamha na de paye pyaar ka,
Aur ham unke liye jindagi luta baithe.



मुझे तुझसे कोई शिकवा या शिकायत नहीं,
शायद मेरे नसीब में तेरी चाहत नहीं है,
मेरी तकदीर लिखकर खुदा भी मुकर गया,
मैंने पूछा तो बोला ये मेरी लिखावट नहीं है।,



Muje tujase koi shikva ya shikayat nahi hain,
Shayad mere nasib me teri chahat nahi hain,
Meri takdeer likhkar khuda bhi mukar gaya,
Maine pucha to bola ye meri likhavat nahi hain.



जब भी उनकी गली से गुज़रते हैं,
मेरी आँखें एक दस्तक दे देती हैं,
दुःख ये नहीं वो दरवाजा बंद कर देते हैं,
ख़ुशी ये है कि वो मुझे पहचान लेते हैं।,



Jab bhi unki gali se gujarte hain,
Meri aankhe ek dastak de deti hain,
\Dukh ye nahi vo darvaja bandh kar dete hain,
Khushi ye hain ki vo muje pahchan lete hain.



💟इश्क़ हमें करना नहीं आया😂
💗वो कहते हैं, ज़रा चिर के देखो💏
💔अपना दिल तो उन्हें मालूम हो💚
💓के सीने में हमेशा हम उन्हें की 💛
💙तो तस्वीर छुपाए रहते हैं.!!,



Ishq hame karna nahi aaya,
Vo kahte hain jara chir ke dekho,
Apna dil to unhe malum ho,
Ke sine me hamesha ham unhe ki,
To tasveer chupaye rakhte hain.



💇वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता है, 💖
कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता है.💚
💙जो मुझे तुझसे जुदा करती है,💋
💂 हाथ की उस लकीर से डर लगता है.💛,



Vafa ki janjeer se dar lagta hain,
Kuch apni takdeer se dar lagta hain,
Jo muje tujase juda karti hain,
Hath ki us lakeer se dar lagta hain.



मोहब्बत की सजा बेमिसाल दी उसने,
उदास रहने की आदत सी डाल दी उसने,
मैंने जब अपना बनाना चाहा उसको,
बातों-बातों में बात टाल दी उसने।



Mahobbat ki saja bemisal di usne,
Udas rahne ki aadat i dal di usne,
Maine jab apna banana chaha unko,
Bato bato me baat tal di usne.



तुम्हें ग़ैरों से कब फुर्सत
हम अपने ग़म से कब ख़ाली,
चलो बस हो चुका मिलना
न तुम ख़ाली न हम ख़ाली।,



Tumhe gairo se kab fursat,
Ham apne gam se kab khali,
Chalo bas ho chuka milna,
Na tum khali na ham khali.



मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,
ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।



Mahobbat se riha hona jaruri ho gaya hain,
Mera tujse juda hona jaruri ho gaya hain,
Vafa ke tajurbe karte hue to umra gujari,
Jara sa bevfa hona jaruri ho gaya hain.



कभी जो हम से प्यार बेशुमार करते थे,
कभी जो हम पर जान निसार करते थे,
भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते हैं,
जो खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार करते थे।



Kabhi jo hamse pyaar beshumar karte the,
Kabhi jo ham par jaan nisar karte the,
Bhari mahfil me hamko bewfa kahte hain,
Jo khud se jyada hampar etbaar karte the.



“तेरे मिलने की आस न होती;
तो ज़िंदगी आज यूँ उदास न होती;
मिल जाती कभी तस्वीर जो तेरी;
तो हमको आज तेरी तलाश न होती।”,



Tere milne ki aas na hoti,
To jindagi aaj yu udas na hoti,
Mil jati kabhi tasveer jo teri,
To hamko aaj teri talash na hoti.



मोहब्बत तो दिल से की थी,
दिमाग उसने लगा लिया !
दिल तोड दिया मेरा उसने,
और इल्जाम मुझपर लगा दिया !,



Mahobbat to dil se ki thi,
Dimag usne laga liya,
Dil tod diya mera usne,
Aur iljam mujpar laga diya.



RELATED POST :-  Baat Nahi Karne Ki Shayari
I Hate You Shayari
Manane Wali Shayari
Single Shayari
Friendship Shayari In English
Zindagi Shayari In Hindi
Love Wali Shayari
Gajab Attitude Shayari In Hindi
Funny Shayari In English
Ghalib Shayari



बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम,
गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम,
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है,
कुछ समय पहले उनकी जान थे हम।,



Bevfa se dil laga liya nadan the ham,
Galti hamse hue kyoki insan the ham,
Aaj jinhe najre milane me takleef hoti hain,
Kuch samay pahle unki jaan the ham.



छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,
चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में,
शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई,
तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।,



Chod gaye hamko vo akele hi raho me,
Chal diye rahne vo auro ki panaho me,
Shayad meri chahat unhe ras nahi aai,
Tabhi to simat gaye vo gair ki baho me.



एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर,
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।,



Ek bevfa se pyar ka anjam dekh lo,
Main khud hi sharmshar hu usase gila nahi,
Ab kah rahe hain mere janaje par baithkar,
Yu chup ho jaise hamse koi vasta nahi.



बंद होंठों से कुछ ना कहकर,
आँखों से प्यार जताते हो |
जब भी आते हो,
हम्मे हमसे ही चुरा ले जाते हो,



Bandh hotho se kuch na kahkar,
Aankho se pyaar jatate ho,
Jab bhi aate ho,
Hame hamse hi chura le jate ho.



मैं खुद हैरान हु की तुझसे
♥इतनी मोहब्बत क्यू है मुझे,
जब भी प्यार शब्द आता है
चेहरा तेरा ही याद आता है….,



Main khud hairan hu ki tujase,
Itani mahobbat kyu hain muje,
Jab bhi pyaar sand aata hain,
Chehra tera hi yaad aat hain.



छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,
चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में,
शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई,
तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।,



Chod gaye hamko vo akele hi raho me,
Chal diye rahne vo auro ki panaho me,
Shayad meri chahat unhe ras nahi aai,
Tabhi to simat gaye vo gair ki baho me.



एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर,
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।,



Ek bevfa se pyar ka anjam dekh lo,
Main khud hi sharmshar hu usase gila nahi,
Ab kah rahe hain mere janaje par baithkar,
Yu chup ho jaise hamse koi vasta nahi.



बंद होंठों से कुछ ना कहकर,
आँखों से प्यार जताते हो |
जब भी आते हो,
हम्मे हमसे ही चुरा ले जाते हो,



Bandh hotho se kuch na kahkar,
Aankho se pyaar jatate ho,
Jab bhi aate ho,
Hame hamse hi chura le jate ho.



मैं खुद हैरान हु की तुझसे
♥इतनी मोहब्बत क्यू है मुझे,
जब भी प्यार शब्द आता है
चेहरा तेरा ही याद आता है….,



Main khud hairan hu ki tujase,
Itani mahobbat kyu hain muje,
Jab bhi pyaar sand aata hain,
Chehra tera hi yaad aat hain.



ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा दुख दिल टूटने पर नही
भरोसा टूटने पर होता है,
क्योंकि हम किसी पर भरोसा
कर के ही दिल लगाते है।



Jindagi main sabse jyaada dukh dil tutne par nahi
Bharosa tutane par hote hain,
Kyoki ham kisi par bharosa
Karke hi dil lagate hain.



भूलकर हमें अगर तुम रहते हो सलामत,
तो भूलके तुमको संभालना हमें भी आता है,
मेरी फ़ितरत में ये आदत नहीं है वरना,
तेरी तरह बदल जाना मुझे भी आता है।



Bhulkar bhi gr tum rahte ho salamat,
To bhulke tumko shambhalna hame bhi aat hain
Meri fitrat main ye aadat nahi hain varna
Teri tarah badal jana muje bhi aata hain.



उसकी मोहब्बत का
सिलसिला भी क्या अजीब था,
अपना भी नही बनाया और
किसी और का भी ना होने दिया।



Uski mahobbat ka
silsila bhi kya ajib tha,
Apna bhi nahi banaya aur
Kisi aur ka bhi na hone diya.



मेरी चाहत ने उसे खुशी दे दी..
बदले में उसने मुझे सिर्फ खामोशी दे दी..
खुदा से दुआ मांगी मरने की..
लेकिन उसने भी तड़पने के लिए ज़िन्दगी दे दी।



Meri chahat ne usi khushi de di,
Badal me usne muje sirf khamoshi de di,
Khuda se dua mangi marne ki
Lekin usne bhi tadpane ke liye jindagi de di.



प्यार हर किसी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सिखा देता है,
प्यार नही किया तो करके देखो,
ये हर दर्द सहना सिखा देता है।



Pyaar har kisi ko jina sikha deta hain,
Vafa ke naam par marna sikha deta hain,
Pyaar nahi kiya to karke dekho,
Ye har dard sahna sikha deta hain.



आज तेरी याद को सीने से लगा कर हम रोये,
हम तुझे तन्हाई में पास बुलाकर रोये,
पाना तो बहुत चाहा था हर बार तुझे,
पर हर बार तुझे न पाकर हम रोये।



Aaj teri yaad ko sine se laga kar ham roye,
Ham tuje tanhai me paas bulakar roye,
Pana to bahut chaha tha har baar tuje,
Par har bar tuje na pakar ham roye.



नजर नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा,
वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा,
उसे चिराग जलाने को मत कह देना,
वह नासमझ है कहीं उंगलियां जला लेगा।



Najar najar se milei to sar juka lega,
Vah bewfa hain mera imtihan kya lega,
Use chirag jalane ko mat kah dena,
Vah nasamaj hain kahi ungliya jala lega.



ज़हासे तेरी बादशाही खत्म होंती हे,
वहा से मेरी नवाबी सुरु होती हे।



Jaha se teri badshahi khatm hoti hain,
Vaha se meri navabi suru hoti hain.



साखों से टूट जाये वो पत्ते नहीं हैं हम,
आंधी से कोई कह दे के औकात में रहे!



Sakho se tut jaye vo patte nahi hain ham,
Aandhi se koi kah de ke aukat me rahe.



नज़ारे तो बदलेंगे ही ये तो कुदरत है,
अफ़सोस तो हमें तेरे बदलने का हुआ है।



Najare to badlenge hi ye to kudarat hain,
Afsos to hame tere badlane ka hua hain.



मैंने उस पगली को प्रपोज क्या मारा,
वो बोली कि तुम मेरे भाई को नहीं जानते,
मैंने कहा अगर तेरा भाई मुझे जान जाएगा,
तेरा रिश्ता लेकर तुरंत मेरे घर आएगा !



Main us pagli ko parpose kya mara,
Vo boliki tum mere bhai ki nahi jante,
Maine kaha agar tera bhai muje jan jayega,
Tera rista lekar turant mere ghar aayega.



हम वहीँ है जो दूसरों को दर्शाते हैं.
इसलिए हमें इसमें सावधानी बरतनी चाहिए!



Ham vahi hain jo dusro ko darsate hain,
Isliye hame isame savdhani baratni chahiye.



गुलामी तो तेरे इश्क की हे वरना ,
ये दिल कल भी नवाब था और अभी हे!



Gulami to tere ishq ki hain,
Ye dil kal bhi navab tha aur abhi hain.



मुझसे बात मत करना,
मैं अपना बना लेता हूँ!



Mujase baat na karna,
Main apna bana leta hu



शहर भर मेँ एक ही पहचान है ‘हमारी’,
सुर्ख आँखे, गुस्सैल चेहरा और नवाबी अदायेँ’!



Shahar bhar me ek hi pahchan hain hamari,
Surkh aankhe, gussel chehra aur navabi aadaye.



दुनियाँ को अपना चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,
पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,
रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज,
फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे।



Duniya ko apna chahera dikhana pada muje,
Parda jo darmiya tha hatana pada muje,
Rusvaiyo ke khauf se mahfil me aaj,
Fir is bewfa se hath milana pada muje.



तुझे है मशक-ए-सितम का मलाल वैसे ही,
हमारी जान थी, जान पर वबाल वैसे ही।



Tuje hain mashak-e-sitam ka malal vaise hi,
Hamari jaan thi, jaan par baval vaise hi.



फलक को ज़िद है जहाँ बिजलियाँ गिराने की,
हमारी भी जिद है वहीँ आशियाँ बनाने की!



Falak ko jid hain jaha bijaliya girane ki,
Hamari bhi jid hain vahi aashiya banane ki.



इस दुनिया में वफ़ा करने वालों की कमी नहीं,
बस प्यार ही उससे हो जाता है जो बेवफा हो।



Is duniya me vafa karne valo ki kami nahi,
Bas pyaar hi usase ho jata hain jo bewfa ho.



इरादे सब मेरे साफ़ होते हैं इसीलिए,
लोग अक्सर मेरे ख़िलाफ़ होते हैँ!



Irade sab mere saf hote hain isaliye,
Log aksar mere khilaf hote hain.



तेरे कूचे में जो आया है ग़ुलामों की तरह,
अपनी बस्ती का सिकंदर भी तो हो सकता है!



Tere kuche me jo aaya hain gulamo ki tarah,
Apni basti ka sikandar bhi to ho sakta hain.



यहाँ किसकी मज़ाल है जो छेड़े दिलेर को,
गर्दिश में तो कुत्ते भी घेर लेते हैं शेर को!



Yaha kisiki majal hain jo chede diler ko,
Gardish me to kutte bhi gher lete hain sher ko.



अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती,
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,
इस तरह लोग मरने की आरज़ू ना करते,
अगर मोहब्बत में बेवफ़ाई ना होती।



Agar duniya me jine ki chahat na hoti,
To khuda ne mahobbat banai na hoti,
Is tarah log marne ki aarju na karte,
Agar mahobbat me bewfai na hoti.



तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।



Tera khayal dil se mitaya nahi abhi,
Bewfa maine tujako bhulaya nahi abhi.



कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,
कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,
तेरी सादगी में इतना फरेब था,
कि तुझे बेवफा भी न कह सका।



Kaisi ajib tujase yah judai thi,
Ki tuje alvida bhi na kah saka,
Teri sadgi me itana fareb tha,
Ki tuje bewfa bhi na kah saka.



हमारी तरफ अब वो कम देखते हैं,
ये वो नजरें नहीं जिनको हम देखते हैं।



Hamari tarah ab vo kam dekhte hain,
Ye vo najare nahi jinko ham dekhte hain.



फ़ुलो के साथ कांटे नसिब होते है,
ख़ुशी के साथ गम भी नसिब होता है,
यु तो मजबुरी ले डुबती हर आशिक को,
वरना ख़ुशी से बेवफ़ा कौन होता है!



Fulo ke sath kante bhi nasib hote hain,
Khushi ke sath gam bhi nasib hote hain,
Yu to majburi le dubati har aashik ko,
Varna khushi se bewfa kaun hota hain.



चाहते हैं वो हर रोज़ नया चाहने वाला.
ऐ खुदा मुझे रोज़ इक नई सूरत दे दे।



Chahte hain vo har roj naya chahne vala,
E khuda muje roj ek nai surat de de.



दिमाग कहता है मारा जायेगा,
लेकिन दिल कहता है देखा जाएगा



Dimag kahta hain mara jayega,
Lekin dil kahta hain dekha jayega.



किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना,
मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है।



Kisi ka ruth jana aur achanak bewfa hona,
Mahobbat me yahi lamha kayamat ki nishani hain.



बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आ के तुम,
अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा।



Bandh kar dena khuli aankho ko meri aa ke tum,
Aks tera dekh kar kah de na koi bewfa.



रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,
ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो।



Roye kuch is tarah se mere jism se lag ke vo,
Esa laga ki jaise kabhi bewfa na the vo.



जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन,
एक मुद्दत से मैंने न मोहब्बत बदली,
और न दोस्त बदले!



Jal jate hain mere andaj se mere dushman,
Ek muddat se mene na mahobbat badli,
Aur na dost badle.



अब के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,
कौन मानेगा कि हम में से बेवफा कोई नहीं।



Ab ke ab tasleem kar le tu nahi to me sahi,
Kaun manega ki ham me se bewfa koi nahi.



दुश्मनी ऐसी करो की दुनिया देखती जाये ,
और प्यार ऐसे करो की दुनिया जलती जाये!



Dusmani esi karo ki duniya dekhti jaye,
Aur pyaar ese karo ki duniya dekhti.



अपने तजुर्बे की आज़माइश की ज़िद थी,
वर्ना हमको था मालूम कि तुम बेवफा हो जाओगे।



Apne tajurbe ki aajmaish ki jid thi,
Varna hamko tha malum ki tum bewfa ho jaoge.



कोइ गेंग नही हे हमारी पर पहेचान इेसी हे की,
हर गेंग का अादमी इस चेहरे को देखके सलाम ठोकता है।



Koi gang nahi he hamari par pahechan esi he ki,
Har gang ka aadmi is chehre ko dekhke salam thokta hain.



मेरी जिंदगी ताश के इक्के की तरह है,
जिसके सामने खुद बादशाह झुक जाता है,
तो साली रानी क्या चीज है!



Meri jinagi tash ke ekke ki tarah hain,
Jiske samne khud badshah juk jata hain,
To sali rani kya cheez hain.



तेरा ख़याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।



Tera khayal dil se mitaya nahi abhi,
Bewfa maine tujako bhulaya nahi abhi.



इतनी मुश्किल भी ना थी राह मेरी मोहब्बत की,
कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हो गए।



Itani muskil bhi na thi rah meri mahobbat ki,
Kuch jamana khilaf hua kuch vo bewfa ho gaye.



मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर,
मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर,
तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे,
जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर।



Meri vafa ke badle bewfai na diya kar,
Meri ummid tukra ke inkar na kiya kar,
Teri mahobbat me ham sab kuch gava baithe,
Jaan bhi chali jayegi imtihan na liya kar.



वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।



Vafa ke name se mere sanam anjan the,
Kisi ki bewfai se shayad pareshan the,
Hamne vafa deni chahi to pata chala,
Ham khud ke name se badnam the.



मयक़दे की इज़्ज़त का सवाल था निकले,
तो हम भी लड़खड़ा गए!



Maykade ki ijjat ka saval tha nikle,
To ham bhi ladkhada gaye.



सुनो एक बार और मोहब्बत करनी है तुमसे,
लेकिन इस बार बेवफाई हम करेंगे।



Suno ek baar aur mahobbat karni hain tumse,
Lekin is baar bewfai ham karenge.



मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।



Meri mahobbat sacchi hain isliye teri yaad aati hain,
Agar teri bewfai sacchi hain to ab yaad mat aana.



खून अभी वो ही है,
ना ही शोक बदले ना ही जूनून,
सून लो फिर से रियासते गयी है रूतबा नही,
रौब ओर खोफ आज भी वही हें!



Khun abhi vo hi hain,
Na hi shokh badle hain na hi junun,
Sun lo fir se riyasate gayi hain rutba nahi,
Raub aur khauf aaj bhi vahi hain.



मुझे मालूम है हम उनके बिना जी नहीं सकते,
उनका भी यही हाल है मगर किसी और के लिये।



Muje malum hain ham unke bina ji nahi sakte,
Unka bhi yahi haal hain magar kisi aur ke liye.



गर तुझको गुरूर है सत्ता का इस कदर तो,
हम भी तख्तों को पलटने का हुनर रखते है!



Ghar tujko gurur hain satta ka is kadar hain,
Ham bhi takhto ko paltane ka hunar rakhte hain.



उस के यूँ तर्क-ए-मोहब्बत का सबब होगा कोई,
जी नहीं ये मानता वो बेवफ़ा पहले से था।



Us ke yu tark-e-mahobbat ka sabab hoga koi,
Ji nahi ye manta vo bewfa pahle se tha.



मेरे ‪साथ रहना है तो मुझे सहना‬ सिख,
वरना अपनी औकात‬ में रहना सिख!



Mere sath rahna hain to muje sahna sikh,
Varna apni aukat me rahna sikh.



बाद्शाह नही Tiger हूँ मै इस लिये लोग,
इज्ज़त से नही मेरी इजाज़त से मिलते है..!



Badshah nahi tiger hu me is liye log,
Ijjat se nahi meri ijajat se milte hain.



शेर के पाँव में अगर काँटा चुभ जाए,
तो उसका ये मतलब नहीं की अब कुत्ते राज करेंगे!



Sher ke pav me agar kanta chub jaye,
To uska ye matlab nahi ki ab kutte raj karenge.



तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,
मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।



Teri chakat se shar utau to bewfa kahena,
Tere siva kisi aur ki chahu to bewfa kahena,
meri vafao pe shak hain to khanjar utha lena,
Main shauk se mar na jau to bewfa kahna.



हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया।



Har bhul teri maaf ki teri har khata ko bhula diya,
Gam hain ki mere pyaar ka tune bewfai sila diya.



गर तुझको गुरूर है सत्ता का इस कदर तो,
हम भी तख्तों को पलटने का हुनर रखते है!



Ghar tujko gurur hain satta ka is kadar to,
Ham bhi takhto ko paltne ka hunar rakhte hain.



नजर उनकी जुबाँ उनकी अजब है कि इस पर भी,
नजर कुछ और कहती है जुबाँ कुछ और कहती है।



Najar unki jaba unki ajab hain ki is par bhi,
Najar kuch aur kahti hain juba kuch aur kahti hain.



अगले बरसों कि तरह होंगे करीने तेरे,
किसे मालुम नहीं बारह महीने तेरे।



Agale barso ki tarah hoge karine tere,
Kise malum nahi barah mahine tere.



रियासते तो आती जाती रहती हे,
मगर बादशाही करना तो,
आज भी लोग हमसे सीखते हे!



Riyasate to aati jati rahti hain,
Magar badshahi karna to,
Aaj bhi log hamse sikhte hain.



जुल्फ़े चाहे कितनी भी हसीन क्यों ना हो,
मेरा ATTITUDE AUR STATUS ही,
FB पर आग़ लगा देता है!



Julfe chahe kitani bhi haseen kyo na ho,
Mera Attitude Aur Status hi,
FB par aag laga deta hain.



शेर की भुख ओर हमारा लुक दोनो ही जानलेवा हे !
रानी नहीं तो क्या हूआ,
यह बादशाह आज भी,
लाखों दिलों पर राज करता हैं.!!



Sher ki bhukh aur hamara look dono hi janleva hain,
Rani nahi to kya hua,
Yah badshah aaj bhi,
Lakho dilo par raaz karta hain.



हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,
होने लगे तो कुछ कुछ बेवफा से तुम।



Hamse na kariye baate yu berukhi se sanam,
Hone lage to kuch bewfa se tum.



जँहा से तेरी बादशाही खत्म होंती हे,
वहा से मेरी नवाबी शुरू होती हे!



Jaha se teri badshahi khatam hoti hain,
Vaha se meri navabi shuru hoti hain.



उसकी ख्वाहिश है कि आँगन में उतरे सूरज,
भूल बैठा है कि खुद मोम का घर रखता है।



Usaki khwahish hain ki aangan me utare sooraj,
Bhul baitha hain ki khud mom ka ghar rakhta hain.



यहाँ किसकी मज़ाल है जो छेड़े दिलेर को,
गर्दिश में तो कुत्ते भी घेर लेते हैं शेर को!



Yaha kisi ki majal hain to chede diler ko,
Gardish me to kutte bhi gher lete hain sher ko.



जा तुझ को तेरे हाल पे छोड़ा,
इस से बेहतर तेरी सजा भी क्या है।



Ja tujko tere hal pe choda,
Is se behtar teri saja bhi kya hain.



हमारी रगों में वो खून दोड़ता है,
जिसकी एक बूंद अगर तेजाब पर गिर जाए,
तो तेजाब जल जाये ।



Hamari rago me vo khun dodta hain,
Jiski ek bund agar tejab par gir jaye,
To tejab jal jaye.



राहें बदले या बदले वक्त,
हम तो अपनी मँजिल पायेंगे,
जो समझते है खुद को बादशाह,
एक दिन उसे अपने दरबार में जरूर नचायेंगे।



Rahe badle ya badle vakt,
Ham to apni manjil payenge,
Jo samjate hain khud ko badshah,
Ek din use bhi apne darbar me jarur nachayenge.



तेरी मोहब्बत ने दिया सुकून इतना,
कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,
तुझे करनी है बेवफ़ाई तो इस अदा से कर,
कि तेरे बाद कोई भी बेवफ़ा न लगे।



Teri mahobbat ne diya sukun itana,
Ki tere baad koi accha na lage,
Tuje karni hain bewfai to is ada se kar,
Ki tere baad koi bhi bewfa na lage.



बहुत ‎खुश‬ रहता हूँ‪ ‎आज कल ‎मै,
‎क्युँकि‬ अब ‎उम्मीद‬ खुद से रखता हूँ‎ औरों‬ से‪ ‎नही‬!



Bahut khush rahta hu aaj kal me,
Kyuki ab immid nahi khud se rakhta auro se nahi.



Attitude तो बचपन से है,
जब पैदा हुआ तो डेढ़ साल,
मैंने किसीसे बात नही की ।



Attitude to bachpan se he,
Jab peda hua to dedh saal,
Maine kisi se baat nahi ki.



मुझे भी शौक़ न था दास्ताँ सुनाने का,
मोहसिन उस ने भी पूछा था हाल वैसे ही।



Muje bhi sokh na tha dasta sunane ka,
Mohsin us ne bhi pucha tha haal vaise hi.



कोई नहीं याद रखता वफ़ा करने वालों को,
मेरी मानो बेवफा हो लो जमाना याद रखेगा।



Koi nahi yaad rakhta vafa karne valo ko,
Meri mano bewfa ho lo jamana yaad rakhega.



कुछ दिन से स्टेट्स नही लिखा,
तो मार्क ज़ुकर्बक ने WHATSAPP से,
STATUS का ऑप्शन्स ही हटा दिया,
इसको कहते हैं ख़ौफ़!



Kuch din status nahi lika,
To mark jukrbarg ne whatsapp se,
Status ka option hi hata diya,
Isako kahte hain khauf.



कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।



Kabhi gam to kabhi tanhae maar gayi,
Kabhi yaad aa kar unaki judai maar gayi,
Bahut tut kar chaha jisko hamne,
Aakhir me unki hi bewfai maar gayi.



बढ़ा के प्यास मेरी उस ने हाथ छोड़ दिया,
वो कर रहा था मुरव्वत भी दिल्लगी की तरह।



Badha ke pyaas meri us ne hath chod diya,
Vo kar raha tha murvat bhi dillgi ki tarah



मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,
गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।



Muje shikva nahi kuch bevfai ka teri hargij,
Gila to tab ho agar tune kisi se nibhai ho.



वाकिफ तो थे तेरी बेवफ़ाई की आदत से,
चाहा इसलिए कि तेरी फितरत बदल जाये।



Vakif to the teri bewfai ki aadat se,
Chaha isliye ki teri fitrat badal jaye.



खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी।



Khuda ne pucha kya saja du us bewfa ko,
Dil ne kaha mahobbat ho jaye use bhi.



न कोई मज़बूरी है न तो लाचारी है,
बेवफाई उसकी पैदायशी बीमारी है।



Na koi majburi hain na to lachari hain,
Bewfai usaki pedayasi bimari hain.



मान लिया कि तु शेर है पर जादा उछल मत,
हम भी शिकारी है ठोक देंगें !



Man liya ki tu sher hain par jada uchal mat,
Ham bhi shikari hai thok denge.



इतना ही गुरुर है तो मुकाबला इश्क से कर ऐ बेवफा,
हुस्न पर क्या इतराना जो बस मेहमान है कुछ दिन का।



Itana hi gurur hain to mukabla ishq se kar e bewfa,
Husn par kya itranaa jo bas mehman hain kuch din ka.



बेवफा दुनिया में कौन सारी जिंदगी साथ देगा तेरा,
लोग तो दफना कर भूल जाते हैं कि कब्र कौन सी थी।



Bewfa duniya me kaun sari jindagi sath dega tera,
Log to dafana kar bhul jate hain ki kabra kaun si thi.



VIDEO CREDIT :- Sero Shayri



Hello dosto aapke liye pesh hain Bewafa Dard Bhari Shayari. agar dosto aapko bhi lagta hain ki aapke sath koi dhoha karta hain. aur aapko bhi bewfa ke liye status dalna hain to aap is website pe aake hamari shayariya padhe.

Aur aap hame social media pe bhi follow kijie. FACEBOOK , TWITTER , INSTAGRAM , LINKED , PINTREST .

4 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *