Hindi Shayari on God

Hindi Shayari on God

Hindi Shayari on God ! {399+} भगवान के लिए भक्ति शायरी ! Bhakti Shayari



Hindi Shayari on God – God Shayari in Hindi, BEST GOD SHAYARI IN HINDI, God Shayari in Hindi, GOD SHAYARI PHOTO DOWNLOAD, God Shayari in Hindi, ईश्वर शायरी, God Shayari in Hindi, GOD SHAYARI, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, BHAGWAN SHAYARI, God Shayari in Hindi, भगवान शायरी, God Shayari in Hindi, GOD SHAYARI IN HINDI, ईश्वर भक्ति शायरी, God Shayari in Hindi, GOD QUOTES, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, GOD SHAYARI, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, BHAGWAN SHAYARI, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, BHAGWAN SHAYARI, God Shayari in Hindi, भगवान शायरी.



मन तुलसी का दास हैं, वृन्दावन हो धाम,
साँस-साँस में राधा बसे, रोम-रोम में श्याम.



देवो के देव, महादेव आपसे हैं विनती,
मेरी भी हो, आपके ख़ास भगतो में गिनती.



बैरागी बने तो जग छूटे,
सन्यासी बने तो छूटे तन,
कान्हा (कृष्ण) से प्रेम हो जाये
तो छूटे आत्मा के सब बन्धन.



हारने ना देना मेरे प्रभु कठिन इम्तेहान है…
जीत में ही प्रभु हम दोनों का मान है…
क्योंकि आपके भरोसे हूँ मैं यही मेरी पहचान है…
जय माँ जगदम्बा



राधा नाम के रस में तन मन भीग जाता है​…
सुनकर राधा नाम तो साँवरिया भी रीझ जाता है​…
चाहे भक्ति का मार्ग हो या दुखों का चक्रव्युह…
राधा नाम लेने वाला​ हर परिस्थिती में जीत जाता है…
प्रेम से बोलो राधे राधे



जब भटक भटक कर हार गया…
और कदम कदम पर ठुकराया गया तब…
आपका ही द्वार नजर आया मुझको मेरे श्याम…
तेरे ही चरणों में सुख पाया…
जय श्री कृष्णा



तुम हो तो मैं हूँ साँवरे दिल में मेरे तुम बसते हो…
अब और कहीं नहीं जाना तुम्हें छोड़कर…
इस जिंदगी की हर साँस में तुम हो साँवरे…
जय श्री श्याम



भगवान वह नहीं जो मन की मनोकामनाओं को…
पूरा करता हो बल्कि भगवान वह है जो…
मन से मनोकामनाओं का नाश करता हो…
जय श्री राम जी



कट जाते हैं कर्मफल मिटते कष्ट अपार…
जिस पर कृपा श्याम की उसका बेड़ा पार…
जय श्री राधे रमन



मेरे श्याम तुझे देखकर यह निगाह रुक जायेगी…
खामोशी अब हर बात कह जायेगी…
पढ़ लो अब इन आँखों में अपनी मोहब्बत…
कसम से सारी कायनात इसे सुनने को थम जायेगी…
जय श्री राधे किसन



पांच पहर काम (कर्म) किया, तीन पहर सोए,
एको घड़ी न हरी भजे तो मुक्ति कहाँ से होए



इतना सच्चा हो हमारा विश्वास,
हमारे हृदय में ” श्री राम” सदा करे वास.



नियत अच्छी हो तो, भक्ति भी सच्ची होती हैं,
भगवान हर हृदय में हैं, घरो में रखने की जरूरत नही होती हैं.



ढूंढ लूँगा तुम्हें आँखें बन्द करके भी मेरे कन्हैया जी…
रूहानियत वाले मोहब्बत को नजरों की जरूरत नहीं होती…
जय श्री राधे कृष्णा



हे मेरे भोले नाथ अगर मैं खामोश हूँ तो क्या…
आप ही कभी आवाज दे दीजिए…
मुझे भी तो अहसास हो जाए कि आप भी बेचैन हैं मेरे लिए…
हर हर महादेव



भर आयी आँखें जब मेरे कन्हैया जी का नाम आया…
कन्हैया कभी मिलने नहीं आये पर बहुत काम आया…
हमने कन्हैया की मोहब्बत में गुजारी ऐसी भी रातें कि…
जब तक आँसू ना छलके तब तक ना दिल को आराम आया…
जय श्री कृष्णा



छोटी सी उंगली से पूरा गोवर्धन पर्वत उठाने वाले श्री कृष्ण…
पर वो बाँसुरी को दोनों हाथों से पकड़ते हैं…
बस दोनों में इतना ही अंतर है पराक्रम और प्रेम का…
आपसी संबंधों में पराक्रम नहीं प्रेम दिखाइये…
जय श्री राधेश्याम जी



मेरे जिस्म जान में बस नाम तुम्हारा है मेरे श्याम…
आज अगर मैं खुश हूँ तो यह अहसास भी तुम्हारा है…
जय श्री राधे श्याम



मिटाने से मिटते नहीं ये भाग्य के लेख…
आप कर्म अच्छा करते चलें फिर ईश्वर की महिमा देखें…
जय श्री राम जी



मैं जबसे तुम्हारी शरण में हूँ आया…
जो कुछ भी माँगा प्रभु तुमसे है पाया…
ये तेरी कृपा का है असर साँवरे…
शुक्र साँवरे तेरा शुक्र साँवरे…
जय श्री श्याम



फंसा हूँ जब भी किसी मुसीबत में…
आपने बाहर निकाला है मेरे श्याम…
कैसे भुल जाऊँ आपके एहसान साँवरिया…
आपने अपने बच्चे की तरह मुझे पाला है मेरे श्याम…
जय श्री राधे श्याम



हर ओर सत्यम-शिवम-सुन्दरम,
हर हृदय में हर-हर हैं,
जड़ चेतन में अभिव्यक्त सतत
कंकर-कंकर में शंकर हैं.



शिव से ही श्रृष्टि हैं, शिव से ही शक्ति हैं,
अति आनन्द सिर्फ़ शिव भक्ति हैं.



कहने की जरूरत नही, आना ही बहुत हैं,
शिव भक्ति में तेरा शीश झुकाना ही बहुत हैं.



जो कुछ हैं तेरे दिल में, सब उसको ख़बर हैं,
बन्दे तेरे हर हाल पर भगवान् शिव की नज़र हैं.



सागर मथ के सभी देवता अमृत पर ललचाए
तुम अभ्यंकर विष को पीकर नीलकंठ कहलाए



अपने महाकाल के फैसले पर भला शक कैसे करूँ…
अगर वो सजा दे रहा है कुछ तो गुनाह रहा होगा मेरा…
समस्या आने पर न्याय नहीं समाधान होना चाहिए…
क्योंकि न्याय में एक के घर दीप जलते हैं…
तो दूसरे के घर अँधेरा होता है मगर…
समाधान में दोनों के घर दीप जलते हैं…
हर हर महादेव



है जिनके पास ज्यादा दौलत वो खुद को खुदा समझते हैं…
तू मांग अपने खुदा से जहाँ मांगने वो भी जाते हैं…
जय श्री राधे श्याम



अभ्यास हमें बलवान बनाता है दुःख हमें इंसान बनाता है…
हार हमें विनम्रता सिखाती है…
जीत हमारे व्यक्तित्व को निखारती है लेकिन…
सिर्फ विश्वास ही है जो हमें आगे बढने की प्रेरणा देता है…
इसलिए हमेशा अपने लोगों पर अपने आप पर और…
अपने ईश्वर पर विश्वास रखना चाहिए…
जय श्री कृष्णा



अच्छे लोगों की भगवान परीक्षा बहुत लेता है…
परन्तु साथ नहीं छोड़ता और बुरे लोगों को…
भगवान बहुत कुछ देता है परन्तु साथ नहीं देता…
जय श्री राम



रब भी न जाने कैसे रिश्ते बना देता है…
अंजानों को दिल में बसा देता है…
जिनको हम जानते भी न थे…
उन्हें जान से भी ज्यादा प्यारा बना देता है…
जय श्री राधे श्याम



कुछ रिश्ते दरवाजे खोल जाते हैं या तो…
दिल के या तो आँखों के…
कद्र तो लोग ईश्वर की भी ना करें…
अगर हालातों से मजबूर ना हो…
जय श्री राधे श्याम



अकेले ही पूरी दुनिया में चिता की भस्म से नहाते हैं,
ऐसे ही नही वो कालों के काल महाकाल कहलाते हैं.



शिव उठत, शिव चलत, शिव शाम-भोर है !
शिव बुध्दि, शिव चित, शिव मन विभोर है !!



दिखावे की दुनिया से थोड़ा दूर रहता हूँ मैं,
इसलिए शिव भक्ति में चूर रहता हूँ मैं.



भक्तो को चिंता नही होती हैं काल की,
क्योकि उन पर कृपा होती हैं महाकाल की.



शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ,
अंत काल को भवसागर में उसका बेड़ा पार हुआ.



“भगवान् शिव”
चिंतन हो सदा इस मन में तेरा,
चरणों में सदा मेरा ध्यान रहे
चाहे दुख में रहूँ चाहे सुख में रहूँ,
होंठों पे सदा तेरा नाम रहे…!



मन में करो सब शिव जी का ध्यान,
सबसे सुंदर हैं शिव का स्थान,
मिल सभी गुण शिव जी के गाते,
सारी खुशियाँ जीवन में पाते.



जंगल में रहो या बस्ती में,
लहरों में रहो या कश्ती में,
महँगी में रहो या सस्ती में,
पर रहो भगवान् शिव की भक्ति में.



जो डूबते हैं महाकाल की मस्ती में,
चार चाँद लग जाती हैं उनकी हस्ती में..
ॐ नमः शिवाय



ना पैसा लगता हैं ना ख़र्चा लगता हैं,
राम-राम बोलिए बड़ा अच्छा लगता हैं.



शब्द-शब्द में ब्रम्हा हैं, शब्द-शब्द में सार,
शब्द सदा ऐसे कहो जिनसे उपजे प्यार.



ईश्वर ने हर किसी को हीरा बनाया है पर चमकता वही है…
जो खुद ही तराशने की हद से गुजरता है…
जय श्री श्याम



क्यों हथेली की लकीरों से आगे होती है हमारी उंगलियाँ…
भगवान ने भी किस्मत से आगे हमारी मेहनत को ही रखा है…
हर हर महादेव



इंसान की सबसे बड़ी खता यह है कि…
वह रब से पहले इंसान के सामने रोता है…
जय श्री राधे



मेरे साँवरे
नैनों की खिड़की से तुमको पल पल मैं निहारुँ…
मन में बिठा लूँ तेरी आरती उतारूँ…
डाले रहूँ तेरे चरणों मे डेरा यूँ बीत जाए जीवन मेरा…
जय श्री राधे श्याम



कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया…
और किसने कितना बचाया इसलिए…
ईश्वर ने आसान गणित लगाया…
सबको खाली हाथ भेज दिया खाली हाथ ही बुलाया…
राधे राधे जी



प्यार में ताकत हैं दुनिया को झुकाने की,
वरना क्या जरूरत थी राम को झूठे बैर खाने की.



राम नाम की लूट हैं, लुटे जा सो लूट
फिर पाछे पछतायेगा, जब प्राण जाएँगे छूट.



एक ही नारा एक ही नाम
जय श्री राम जय श्री राम



हे मेरे प्रभु, सुना है आपने लाखों की किस्मत बनाई हैं,
देखिये तो सही प्रभु मेरी अर्जी खा छिपाई हैं.



सारे जगत को देने वाले, मैं क्या तुझको भेंट चढाऊं,
जिसके नाम से आए ख़ुशबू, मैं क्या उसको फूल चढाऊं.



प्रार्थना (पूजा) शब्दों से नही, ह्रदय से होनी चाहिए,
क्योकि ईश्वर उनकी भी सुनता हैं, जो बोल नही सकते.



वो तैरते-तैरते डूब गये, जिन्हें खुद पर गुमान था,
और वो डूबते-डूबते भी तर गये जिन पर तू मेहरबान था.



जय हो हृदय में बसे नन्द लाल की,
जय हो हृदय में बसे बाल गोपाल की.



हृदय में “शिव” करे सदा वास,
मंगलमय हो सबके काज.



जो लोग ईश्वर को पाना चाहते हैं,
उन्हें वाणी, मन, इंद्रियों की पवित्रता और
एक दयालु हृदय की जरूरत होती हैं.



सारा जहाँ है जिसकी शरण में…
नमन है उस शिव के चरण में…
बने उस शिव के चरणों की धूल…
आओ मिलकर चढ़ायें हम श्रद्धा के फूल…
हर हर महादेव



मित्रता और प्रेम का अद्भुत पाठ पढ़ाने वाले श्री कृष्ण…
नाम के विलक्षण एवं बहुरंगी व्यक्तित्व को सलाम…
हर हर महादेव



ना घुमने के लिए कार चाहिए ना गले के लिए हार चाहिए…
भगवद् गीता में श्री कृष्णा ने बहुत अच्छी बात कही है कि…
जीवन के उद्धार के लिए केवल मित्र, प्रेम और परिवार चाहिए…
जय श्री कृष्णा



आईना कोई ऐसा बना दे ऐ मेरे खुदा जो…
इंसान का चेहरा नहीं बल्कि उसका छुपा किरदार दिखा दे…
जय श्री कृष्णा



क्या बात करें इस दुनिया की जो सामने है…
उसे बुरा कहते हैं और…
जिसे कभी देखा नहीं उसे खुदा कहते हैं…
हर हर महादेव



“महादेव”आप पर क्या लिखूं ! कितना लिखूं !
रहोगे आप फिर भी अपरिभाषित चाहे जितना लिखूं !



मोहिनी मूरत, हृदय में छिपाए बैठे हैं, सुंदर-सी छवि आँखों में बसाए बैठे हैं,
बाँसुरी की मधुर तान सुना दे कान्हा, छोटी-सी आस लगाये बैसे हैं.



मोहिनी मूरत, हृदय में छिपाए बैठे हैं, सुंदर-सी छवि आँखों में बसाए बैठे हैं,
बाँसुरी की मधुर तान सुना दे कान्हा, छोटी-सी आस लगाये बैसे हैं.



अतिसुन्दर प्रार्थना…
सुकून उतना ही देना प्रभु जितने से जिंदगी चल जाए…
औकात बस इतनी देना कि औरों का भला हो जाए…
रिश्तों में गहराई इतनी हो कि प्यार से निभ जाए…
आँखों में शर्म इतनी देना कि बुजुर्गों का मान रख पायें…
सांसें पिंजर में इतनी हो कि बस नेक काम कर जाएँ…
बाकी उम्र ले लेना कि औरों पर बोझ न बन जाएँ…
हर हर महादेव



आपकी नियत से ईश्वर प्रसन्न होते हैं और…
दिखावे से इंसान अब यह आप पर निर्भर करता है…
कि आप किसे प्रसन्न करना चाहते हैं…
जय शिव शम्भु



सोते, जागते, उठते, बैठते तुझको श्याम पुकारे…
कभी तो हम भी चमकेंगे तेरे नाम के सहारे…
जय श्री कृष्णा


मेरे कान्हा… काश ऐसा हो किसी दिन कि…


हम दुआ में आपको मांगे और…
आप गले लगाकर कहो और कुछ…
जय श्री राधे किसन



जब ठोकरें खाकर भी ना गिरो तो समझ लेना…
कि उस राधे श्याम ने आपका थाम रखा है…
जय श्री राधे श्याम



मन की बात बस कान्हा से किया करो…
दुख को सुख में बदलने की शक्ति बस उन्ही के पास है…
जय श्री कृष्णा



मैं इस उम्मीद पे डूबा कि मेरा रब मुझे बचा लेगा…
अब इसके बाद मेरा इम्तिहान क्या लेगा…



प्रार्थना शब्दों से नहीं दिल से होनी चाहिए क्योंकि…
भगवान उनकी भी सुनते हैं जो बोल नहीं पाते…
जय श्री राम जी



नम्रता से बोलना हर एक का आदर करना…
शुक्रिया अदा करना और माफी माँगना…
ये चार गुण जिस व्यक्ति के पास है…
वो सबके करीब और सबके लिए खास है…
जय श्री गणेशाय नमः



फुर्सत नहीं है इंसान को इंसान से मिलने की…
ख्वाहिशें रखता है दूर बैठे भगवान से मिलने की…
जय श्री राम



राम नाम का ले सहारा जिसने बाजी लगाई है…
मात जीवन में वो कभी ना खाता…
जिसने भी श्री राम से अर्जी लगाई है…
जय श्री राम जी



इतना उदास न हो ऐ इंसान खोते वही हैं जो…
ईश्वर को छोड़कर बाकी सब कुछ पाने की तमन्ना रखते हैं…



हे ईश्वर… प्रेम से भरी हुई आँखें देना…
श्रद्धा से झुका हुआ सिर देना…
सहयोग करते हुए हाथ देना सन्मार्ग पर चलते हुए…
पांव देना और सुमिरन करता हुआ मन देना…
सत्य से जुड़ी हुई जिव्हा देना… हे ईश्वर…
अपने इस भक्त को अपनी कृपादृष्टि से निहाल कर देना…
जय श्री राधेश्याम



उस राह पर मुझको जाना है…
जिस राह पर मुझको श्याम मिले…
कुछ मिले या ना मिले बस…
उनकी सेवा का मुझे काम मिले…
जय श्री श्याम



हे हरि…
आये प्रभु तेरी शरण में अहसान इतना कर दो…
मेरी जिंदगी में अपनी भक्ति का रंग भर दो…
मुझे अपनी शरण में ले लो मेरे प्रभु…
जय श्री राम जी



एक माटी का दीया सारी रात अंधेरे से लड़ता है…
फिर तूम तो ईश्वर का दिया हुआ है…
फिर किस बात से डरता है…
जय श्री राम जी



हे परमात्मा… अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे तो…
मेरा गुरूर तोड़ देना अगर आप का कुछ जलाने का मन करे…
तो मेरा क्रोध जला देना…
अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे…
तो मेरी घृणा बुझा देना…
अगर आप का मारने का मन करे…
तो मेरी इच्छाओं को मार देना…
अगर आप का प्यार करने का मन करे…
तो मेरी ओर देख लेना…
मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं व्यर्थ हूँ…
जय श्री राम



मत करना जलील किसी गरीब को अपनी चौखट पर…
कटोरा बदलने में ईश्वर बड़ा माहिर होता है…
हर हर महादेव



ईश्वर पर आप तभी विश्वास कर सकते हैं,
जब आपको खुद पर विश्वास हो क्योकि
ईश्वर बाहर नही हमारे अंदर ही हैं!!



कामयाबी के दरवाजे उन्हीं के लिए खुलते हैं,
जो उन्हें खटखटाने की ताकत रखते हैं…!!



मुझे अपने आप में कुछ यु बसा लो,
के ना रहू जुदा तुमसे और खुद से तुम हो जाऊ!



मैं “किसी से” बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है..!
मै “किसी का” बेहतर करूं बहुत फर्क पड़ता है..!!



कहने की जरूरत नही, आना ही बहुत हैं,
शिव भक्ति में तेरा शीश झुकाना ही बहुत हैं!!



जब ईश्वर मनुष्य की परीक्षा लेते हैं,
तब वो मनुष्य का सामर्थ्य भी बढ़ा देते हैं,
ताकि वो अधिक बुद्धिमान और अधिक ताकतवर बनें!!



श्रद्धा का मतलब हैं आत्मविश्वास,
और आत्मविश्वास का मतलब हैं ईश्वर में विश्वास!



भगवान बोलते है…
तू करता वही है, जो तू चाहता है!
पर होता वही है जो मैं चाहता हूँ,
तू वही कर जो मैं चाहता हूँ,
फिर होगा वही जो तू चाहता है…!



हे प्रभु! मेरी प्रार्थना को ऐसे स्वीकार करो,
की जब-जब मेरा सिर झुके,
मुझसे जुड़े हर इंसान की जिंदगी सँवर जाए!!



तेरा हाथ सिर पे होने से
मेरे सब काम साकार होते हैं,
मैं जहाँ भी देखता हूँ तुझे मेरे मोहन
मुझे तो बस तेरे दीदार होते हैं।



शायद मेरे पास सब कुछ नहीं
पर ईश्वर ने मुझे वो सब दिया है,
जिसकी मुझे जरुरत है।
मैं इसके लिए ईश्वर का आभारी हूँ।



उसके होते हुए तू क्यों परेशान है,
भगवान के चरणों में तो हर समस्या का समाधान है।



हे मालिक! मेरी गुमराहियों,
मेरे दोष देखकर उन्हें अनदेखा कर देना,
क्यूंकि मैं जिस माहौल में रहता हूँ उसका नाम दुनिया है..!!



कर्म भूमि पर फल के लिए
श्रम तो सभी को करना ही पड़ता है,
भगवान सिर्फ लकीरें देता है,
रंग तो हमें ही भरना पड़ता है!!



सच्चा प्रेम और भगवान एक जैसे ही होते हैं
जिसके बारें में बातें सब करते हैं
लेकिन महसूस बहुत कम ही लोग करते हैं!!



वो तो सदा सबका है,
कभी तू भी उसका बन कर देख,
बनेंगे तेरे बिगड़े काम
राम नाम तू जप कर देख।



मेरे और भगवान के बीच में बहुत ही ख़ूबसूरत रिश्ता हैं,
मैं ज्यादा माँगता नही और वे कम देते नही हैं!



जो मनुष्य जीवन में सत्य के मार्ग पर चलता हैं,
उसका सफ़र ईश्वर के पास आकर ही समाप्त होता हैं!



देवो के देव, महादेव आपसे हैं विनती,
मेरी भी हो, आपके ख़ास भक्तों में गिनती!!



मेरे जिस्म जान में भोलेनाथ नाम तुम्हारा है,
आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी तुम्हारा है,
थामा हुआ है हाथ मेरा आपने मुझको मालूम है,
मेरे हर पल हर लम्हे में मेरे भोलेनाथ प्यार तुम्हारा है!



यह जीवन ईश्वर का अमूल्‍य उपहार है,
इसे व्‍यर्थ न गंवाओ…!



जिसका मन सच्चा और कर्म अच्छा हैं,
वही भगवान का सच्चा भक्त हैं
और ऐसे लोगो पर ईश्वर की कृपा हमेशा बनी रहती हैं!!



यदि आपके पास सिर्फ भगवान हैं
तो आपके पास वह सब हैं
जो आपको चाहिए!



मैं और मेरा‬ ‪शिवा‬ दोनो ही बङे ‪भुलक्कङ‬ है,
वो मेरी गलतियां‬ भूल जाते है और मै उनकी मेहरबानियों को!



नियत अच्छी हो तो, भक्ति भी सच्ची होती हैं,
भगवान हर हृदय में हैं, घरों में रखने की जरूरत नही होती हैं!!



मंज़िले मुझे छोड़ गयी,
रास्ते ने पाल लिया है,
जा ज़िंदगी तेरी ज़रूरत नहीं
मुझे ठाकुर ने संभाल लिया है…!!



प्रभु के सामने जो झुकता है,
वह सबको अच्छा लगता है,
लेकिन जो सबके सामने झुकता है,
वह प्रभु को भी अच्छा लगता है।



वो तैराक भी डूब जाते हैं जिनको ख़ुद पर गुमान होता हैं
और वो गँवार भी डूबते-डूबते पार हो जाते हैं,
जिन पर भगवान मेहरबान होते हैं!



ईश्वर से कुछ मागने पर न मिले तो नाराज न होना।
क्योकि, ईश्वर वह नहीं देता जो आपको अच्छा लगता है,
बल्कि वह देता जो आपके लिए अच्छा होता है!!



र्इश्वर चित्र में नहीं, चरित्र में बसता है,
अपनी आत्‍मा को मंदिर बनाओ…!



ना पैसा लगता हैं ना ख़र्चा लगता हैं,
राम-राम बोलिए बड़ा अच्छा लगता हैं!!



मुझे नही पता मेरी लाइफ की स्टोरी क्या होगी,
लेकिन उसमे ये कभी नही लिखा होगा
कि “मैने हार मान ली”…!



सच्चे मन से की गई प्रार्थना ही भगवान तक पहुँचती हैं!



भगवान से कुछ मांगना ही है तो
हमेशा अपनी माँ के सपने पूरे होने की दुआ माँगना!
तुम खुद बे खुद आसमान की ऊंचाइया छु लोगे।



चलता रहा हुँ अग्निपथ पर चलता चला जाऊँगा,
श्रीराम का भक्त हुँ झुकना मैने सीखा नहीं!!



सारे बिगड़े काम बना दे सुधर जाए ये जीवन,
जिसके ऊपर कर दे कृपा बांसुरी वाला मोहन।



अगर आपकी समस्या एक जहाज जितनी बड़ी है
तो यह नही भूलना चाहिए कि भगवान की कृपा सागर जितनी विशाल हैं!!



कहते हैं जिन्‍दगी का आखरी ठिकाना,
ईश्वर का घर है, कुछ अच्‍छा कर ले मुसाफिर,
किसी के घर खाली हाथ नहीं जाते है।



ईश्वर कहते हैं उदास न हो मैं तेरे साथ हूँ…
सामने नहीं आस पास हूँ, पलकों को बंद कर
और दिल से याद कर मैं कोई और नहीं तेरा विश्वास ही हूँ।



मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान!
तेरे और मेरे जैसे कितनो को ईश्वर ने माटी से बनाकर माटी में मिला दिया!



मन तुलसी का दास हैं, वृन्दावन हो धाम,
साँस-साँस में राधा बसे, रोम-रोम में श्याम!!



कोई व्यक्ति कितना भी महान क्यों न हो,
आँखें मूंदकर उसके पीछे मत चलिए!
यदि ईश्वर की ऐसी ही मंशा होती,
तो वह हर प्राणी को आँख, नाक, कान, मुंह, मस्तिष्क आदि क्यों देता?



ऐ जन्नत अपनी औकात में रहना,
हम तेरी जन्नत के मोहताज नही!
हम गुरू भोलेनाथ के चरणों के वासी है,
वहाँ तेरी भी कोई औकात नही!!



आलसी लोगों के काम के लिए ही भगवान ने ‘कल’ का निर्माण किया है।



इस जगत में जिसे छूटना है,
उसे कोई बाँधनेवाला नहीं है।
और जिसे जगत से बंधना है,
उसे तो भगवान भी नहीं छुड़ा सकते।



यदि आप यह मानते है कि आपके अंदर ईश्वर का अंश है
तो आप किसी भी असम्भव कार्य को कर सकते हैं!!



जब तक आप स्वयं पर विश्वास नही करते,
तब तक आप ईश्वर पर भी विश्वास नही कर सकते हैं!!



पूरी दुनिया में ढूढ़ने के बाद भी नही मिलता हैं,
वही माया हैं और जो
एक जगह पर बैठे ही मिल जाए वही परमात्मा हैं!



किसी व्यक्ति ने साईं से पुछा-
बाबा आप बड़े हैं फिर भी नीचे क्यूँ बैठते हैं?
साईं बाबा ने जवाब दिया-
नीचे बैठने वाला कभी गिरता नहीं हैं।



जो कुछ हैं तेरे दिल में, सब उसको ख़बर हैं,
बन्दे तेरे हर हाल पर भगवान शिव की नज़र हैं!!



ईश्वर हमें कभी सजा नहीं देते,
हमारे कर्म ही हमें सजा देते हैं!



धराशायी हो जाता है उसके आगे
चाहे कितना ही बड़ा महारथी हो,
उसे क्या हराएगा इस जहां में कोई
कान्हा जिसका खुद सारथी हो।



प्रार्थना भगवान का मोबाइल नंबर है,
Re-Dial करते रहो कभी तो भगवान सुनेंगे।



भगवान का भक्त होने का मतलब यह नही
कि आप कभी भी गिरेंगे नही,
पर जब आप गिरेंगे तो भगवान आपकी स्वयं थाम लेंगे!



हे भगवान, सुख देना तो बस इतना देना कि
जिसमें अहंकार न आये और दुःख देना
तो बस इतना कि जिसमें आस्था ना टूटे!



इतना सच्चा हो हमारा विश्वास,
हमारे हृदय में ”श्री राम” सदा करे वास!!



~ईश्वर का संदेश :-^
सोने से पहले तुम सब को माफ़ कर दिया करो,
तुम्हारे जागने से पहले मैं तुम्हे माफ़ कर दूंगा!!



दिखावे की दुनिया से थोड़ा दूर रहता हूँ मैं,
इसलिए शिव भक्ति में चूर रहता हूँ मैं!!



चिंतन हो सदा इस मन में तेरा,
चरणों में सदा मेरा ध्यान रहे,
चाहे दुख में रहूँ चाहे सुख में रहूँ,
होंठों पे सदा तेरा नाम रहे…!



कर्म का अधिकार मनुष्य के पास है,
लेकिन फल ईश्वर देते हैं,
इसलिए कर्म को सच्चे मन से करना चाहिए,
क्योकि मनुष्य के जीवन में उसके कर्मो का फल ही घटित होता हैं!!



बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर,
में भी वफ़ा की उम्मीद करते हैं,
यहाँ तो दुआ क़बूल ना होने पर लोग,
भगवान बदल दिया करते हैं!!



जो कुछ भी मैंने खोया वह मेरी नादानी थी…
और जो कुछ भी मैंने पाया वह रब की मेहरबानी थी…!!



हे ईश्वर मुझे अधिक लेने के लिए नहीं,
अधिक देने के योग्‍य बनाओ…!



भगवान से निराश कभी मत होना,
संसार से आशा कभी मत करना।



तू चाहे तो मेरा हर काम साकार हो जाए,
तेरी कृपा से खुशियों की बहार हो जाए,
यूँ तो कर्म मेरे भी कुछ ख़ास अच्छे नहीं,
मगर तेरी नजर पड़े तो मेरा उद्धार हो जाए।



मुझे कौन याद करेगा इस भरी दुनिया में, हे ईश्वर!
यहाँ तो बिना मतलब के तो लोग तुझे भी याद नहीं करते…!!



जब हम गेहूँ का एक दाना बोते हैं,
तो कुछ समय पश्चात वो हमे हजार दाने के रूप में मिलता हैं,
उसी तरह हमारे अच्छे कर्मो का फल हमें ईश्वर भी देता हैं!



भगवान न दिखाई देने वाले माता-पिता है,
और माता-पिता दिखाई देने वाले भगवान है!!



कर्म में विश्वास करना, खुद पर विश्वास करना
और खुद पर विश्वास करना ईश्वर पर विश्वास करना होता हैं!!



ग़ालिब ने यह कह कर तोड़ दी माला,
गिनकर क्यों नाम लूँ उसका जो बेहिसाब देता है।



मालिक पर भरोसा रख अपने गमों की नुमाइश न कर,
जो तेरा है वो चल के आएगा तेरे दर पे, रोज़ उसे पाने की ख़्वाहिश न कर।



तुझसे ही सुबह तुझसे ही शाम है,
मेरी हर धड़कन में तेरा ही नाम है,
अब सांसे भी मिलेंगी और आग भी लगेगी,
मेरा तो अब बस तू ही एक मुकाम है!



विश्वास करो…मैंने तुम्हारे लिए वही विधान किया,
जो तुम्हारे लिए उचित था…
मैंने आज तक जो कुछ किया तुम्हारे मंगल के लिए किया! ~कृष्णा कन्हैया!!



भगवान ने हमें दो हाथ सिर्फ ‘प्रार्थना’ नही
बल्कि ‘प्रयत्न’ करने के लिए भी दिए हैं,
सिर्फ हाथों को जोड़े रखने से कुछ नही होगा,
हमें इनका उपयोग कर प्रयास करना चाहिए।



VIDEO CREADIT : Unkahe Jasbaat



HELLO DOSTO HAM AAPKE LIYE LEKE AAYE HAIN Comedy Status. TO DSTP AAP IS SHAYARI KO JARUR PADHE AUR HAME COMMENT KARKE JARUR BATAYE KI AAPKO HAMARI E SHAYARI KESI LAGI. AUR AAP HAME SOCIAL MEDIA PE BHI FOLLOW LAR SAKTE HAIN. FACEBOOK , LINKED , PINTREST , INSTAGRAM , TWITTER .



ईश्वर भक्ति शायरी, God Shayari in Hindi, GOD SHAYARI PHOTO DOWNLOAD, God Shayari in Hindi, BEST GOD SHAYARI IN HINDI, God Shayari in Hindi, God Shayari in Hindi, भगवान शायरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.