I Hate Love Status

I Hate You Shayari

I Hate You Shayari – I Hate Love Status Hindi – I Hate Love Status Hindi English



I Hate You Shayari – Status Hindi & English, I Hate You Love Shayari, I Hate You Shayari Image, I Hate You My Life Shayari, I Hate You Shayari Wallpaper, I Hate You Love Shayari In Hindi, I Hate You Shayari In Hindi Download, I Hate You Shayari Hindi, I Hate You Photo Shayari, I hate you shayari, I Hate You Nafrat shayari, I Hate you shayari, I hate You love shayari, I hate u quotes, Hate love shayari, I Hate You Nafrat shayari in hindi, I hate my life shayari, Hate quotes in hindi, Hate life status, I Hate Love Attitude Status, I Hate Love Hindi Status



दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,
ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,
मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।



Dil ke dariya me dhadkan ki kashti hain,
Khwabo ki duniya me yado ki vasti hain,
Mahobbat ke bajar me chahat ka soda hain,
Vafa ki kimat se to bevfai sasti hain.



वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,
हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।



Vo suna rahe the apni vafao ke kisse,
Ham par najar padi to khamosh ho.



दिल क्या मिलाओगे कि हमें हो गया यक़ीं,
तुम से तो ख़ाक में भी मिलाया न जाएगा।



Dil kya milaoge ki hame ho gaya yaki,
Tum se to khak me bhi milaya na jayega.



हारने वालो का भी अपना रुतबा होता हैं,
मलाल वो करे जो दौड़ में शामिल नही थे!



Harne valo ka bhi apna rutba hota hain,
Malal vo kare jo daud me shamil nahi the.



मजा चख लेने दो उसे गेरो की मोहबत का भी,
इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो ओरो का क्या होगा।



Maja chakh lene do use gero ki mahobbat ka bhi,
Itani chahat ke baad jo mera na hua vo oro ka kya hoga.



मिला के खाक में दिल को वो इस अंदाज़ में बोले,
मिट्टी का खिलौना था, कहाँ रखने के काबिल था।



Mila ke khak me dil ko vo is andaj me bole,
Mitti ka khilona tha kaha rakhne ke kabil tha.



I Hate You Shayari



मेरी शराफत को तुम बुज़दिली का नाम न दो,
दबे न जब तक घोडा बन्दूक भी खिलौना ही होती है ,.,!!



Meri sharafat ko tum bujdili ka name na do,
Dabe na jab tak ghoda banduk bhi khilona hi hoti hain.



नवाब की जिन्दगी जीने के लिए नसीब लगता है,
वर्ना हीरो की जिन्दगी तोह कोई भी जीता है…!



Navab ki jindagi jine ke liye naseeb lagta hain,
Varna hiro ki jindagi koi bhi ji sakta hain.



इतने बड़े बनो कि जब आप खड़े हों,
तो कोई बैठा न रहे,.,!!



Itane bade bano ki jab aap khade ho,
To koi baitha na ho.



सुनने का अगर दम है बेटा तो एक बात बता दूं,
क्या है मेरा Attɨtʊɖɛ ज़रा में बता दूं,
गीदड़ की तरह झुंड में हमले को छोड़कर,
आ सामने से लड़ तेरी औक़ात बता दूं!



Sunane ka agar dam hain beta to ek baat bata du,
Kya hain mera ATTITUDE jara me bata du,
Gidhad ki tarah jund me hamle ko chodakar,
Aa samne se lad teri akad bata du.



मै रिश्तों का जला हुआ हूँ,
दुश्मनी भी फूँक फूँक कर करता हूँ!



Main risto ka jala hua hu,
Dusmani bhi funk funk kar karta hu.



ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने,
है बेवफा गम-ऐ-मोहब्बत क्या जाने,
जिन्हें मिलता है हर मोड़ पर नया हमसफर,
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने।



Ye bewfa vafa ki kimmat kya jane,
He bewfa gam-e-mahobbat kya jane,
Jinhe milta hain har mode par naya hamsafar,
Vo bhala pyaar ki kimat kya jane.



जीत हासिल करनी हो तो काबिलियत बढाओ,
किस्मत की रोटी तो कुत्तों को भी नसीब हो जाती है!



Jit hasil karni ho to kabiliyat badhao,
Kisat ki roti to kutto ko bhi nasib ho jati hai.



आज तुम्हारी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करते वफ़ा न मिलती ये सजा,
मेरी वफ़ा ने तुझे बेवफा बना दिया।



Aaj tumhari yaad ne muje rula diya,
Kya karu tumne jo muje bhula diya,
Na karte vafa na milti ye saja,
Meri vafa ne tuje bewfa bana diya.



वो लाख तुझे पूजती होगी,
मगर तू खुश न हो ऐ खुदा,
वो मंदिर भी जाती है,
तो मेरी गली से गुजरने के लिए..!!



Vo lakh tuje pujati hogi,
Magar tu khush na ho e khuda,
Vo mandir bhi jati hain,
To meri gali se gujarne ke liye.



कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी,
कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,
तेरी सादगी में इतना फरेब था,
कि तुझे बेवफा भी ना कह सका।



Kaise ajeeb tujase yah judai thi,
Ki tuje alvida bhi na kah saka,
Teri sadagi me itana kareb tha,
Ki tuje bewfa bhi na kah saka.



बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना,
कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना।



Bewfa kah ne se pahle meri rag rag ka khun nichod lena,
Katre katre se vafa na mile to beshak muje chod dena.



अच्छा होता जो उस से प्यार न हुआ होता,
चैन से रहते हम जो दीदार न हुआ होता,
हम पहुँच चुके होते अपनी मंज़िल पर,
अगर उस बेवफा पर ऐतबार न हुआ होता।



Accha hota jo us se pyaar na hua hota,
Chain se rahte ham jo didar na hua hota,
Ham pahuch chuke hote apn manjil par,
Agar us bewfa par etbar na hua hota.



RELATED POST :-  Baat Nahi Karne Ki Shayari
Manane Wali Shayari
Single Shayari
Friendship Shayari In English
Zindagi Shayari In Hindi
Love Wali Shayari
Bewafa Dard Bhari Shayari
Gajab Attitude Shayari In Hindi
Funny Shayari In English
Ghalib Shayari



वफा की तलाश करते रहे हम
बेवफाई में अकेले मरत रहे हम,
नहीं मिला दिल से चाहने वाला
खुद से ही बेबजह डरते रहे हम,



Vafa ki talash karte rahe ham,
Bewfai me akele marte rahe ham,
Nahi mila dil se chahne vala,
Khud se hi bevajah darte rahe ham.



लुटाने को हम सब कुछ लुटा देते
मोहब्बत में उन पर मिटते रहे हम,
खुद दुखी हो कर खुश उन को रखा
तन्हाईयों में साँसें भरते रहे हम,
वो बेवफाई हम से करते ही रहे
दिल से उन पर मरते रहे हम।



Lutane ko ham sab kuch luta dete,
Mahobbat me un par mitate rahe ham,
Khud dukhi ho kar khush un ko rakha,
Tanhaiyo me sanse bharte rahe ham,
Vo bewfai ham se karte hi rahe,
Dil se un par marte rahe ham.



इंसान के कंधों पर इंसान जा रहा था,
कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली बेवफ़ाई मोहब्बत में,
वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था।



Insan ke kandho par insan ja raha tha,
Kafan me lipta arman ja raha tha,
Jise bhi mili bewfai mahobbat me,
Vafa ki talash me shmashan ja raha tha.



रात की गहरा आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।



Rat ki gahra aankho meutar aayi,
Kuch khwab the aur kuch meri tanhai,
Ye jo palko se bah rahe hain halke halke,
Kuch to majburi thi kuch teri bewfai.



उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।



Usaki bewfai pe bhi fida hoti hain jaan apni,
Agar us me vafa hoti to kya hota khuda jane.



सवाल आप हैं गर तो जवाब हम भी हैं,
हैं आप ईंट तो पत्थर जनाब हम भी हैं!



Saval aap hain agar to javab ham bhi hain,
He aap int to patthar janab ham bhi hain.



मैं कभी सिगरेट पीता नहीं,
मगर हर आने वाले से पूछ लेता हूं कि माचिस है,
बहुत कुछ है जिसे मै फूंक देना चाहता हूं!



Main kabhi sigrate pita nahi,
Magar har aane vale se puch leta hu ki machis hain,
Bahut kuch hain jise main funk dena chahta hu.



हमें आदत नहीं हर एक पे मर मिटने की,
तुझे में बात ही कुछ ऐसी थी,
दिल ने सोचने की मोहलत ना दी



Hame aadat nahi har ak pe mar mitne ki,
Tuje mai bat hi kuchh aaisi thi,
Dil ne sochne ki mohlat na di.



कैसे बयान करे अब आलम दिल की
बेबसी का,वो क्या समझे दर्द इन आंखों
की नमी का,चाहने वाले उनके इतने हो
गए हैं कि,अब एहसास ही नहीं उन्हें
हमारी कमी का



Kaise bayan kare ab aalam dil ki
Bebasi ka, vo kya samje dard in aankhon
Ki nami ka, chahne vale unke itne ho
Gaye hai ki, ab ahsas hi nahi unhe
Hamari kami ka.



अब मान भी जाओ तुम दिल तोड़ना नहीं अच्छा
लोग तो बहुत मिलेंगे पर ढूंढते रह जाओगे कोई
हम जेसा सच्चा।



Ab man bhi jao tum dil todna nahi achhchha
Log to bahut milenge par dhundhte rah jaoge koi
Ham jaisa sachcha.



आँख में पडा हुआ तीनका,
पैर में चुभा हुआ काँटा और रुई
में दबी हुई आग से भी भयानक है
ह्रदय में छुपा हुआ कपट !!



Aankh me pada hua tinka,
Pair mai chubha hua kanta aaur rui
Mai dabi hui aag se bhi bhayanak hai
Hraday mai chhupa hua kapat.



कभी किसीसे बात करने की आदत मत
डालना, क्यों की अगर वो बात करना
बंद कर दे तो, दुबारा जीना मुश्किल
हो जाता है यार।



Kabhi kisi se bat karne ki aadat mat
Dalna, Kyon ki agar vo bat karna
Band kar de to, dubara jina mushkil
Ho jata hai yaar.



मुस्कुराहट का कोई मोल नही होता है,
रिश्तों का कोई तोल नही होता है,
इंसान तो मिल जातें है हमे हर मोड़ पर,
लेकिन हर कोई आप की तरह अनमोल नही होता है।



Muskurahat ka koi mol nahi hota hain,
Risto ka koi tol nahi hota hain,
Insan to mil jate hain hame har mode par,
Lekin har koi aap ki tarah anmol nahi hota hain.



जब रो रहे थे हम अपने हालात पर,
सब मुस्कुरा रहे थे जाने किस बात पर,
हम जिन्दगी की आग में यूँ झुलस गये,
कि यकीं नहीं होता अब बरसात पर !



Jab ro rahe the ham aapne haalat par,
Sab muskura rahe the jane kis baat par,
Ham jindagi ki aag me yu julas gaye,
Ki yakin nahi hota ab barsat par.



हमेशा हिम्मत रखो और आगे बढ़ो,
ताने तो भगवान को भी मिलते है तो
आप तो सिर्फ एक इंसान है !!



Hamesha himmat rakho aur aage badho,
Tane to bhagvan ko bhi milte hai to,
Aap to sirf ek insan hain.



कितनी अजीब बात है की
जब हम गलत होते है तो समझौता चाहते हैं,
और दुसरे गलत होते है तो हम न्याय चाहते हैं



Kitani ajeeb baat hain ki,
Jab ham galat hote hain to samjota chahte hain,
Aur dusre galat hote hain to ham nyay chahte hain.



वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते!
खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते!
मर गए पर खुली रखी आँखें!
इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते!



Vo kareeb hi na aaye to ijhar kya karte,
Khud bane nishan to shikar kya karte,
Mar gaye ham khuli rakhi aankhe,
Isase jyada kisi ka intezar kya karte.



कहीं दूर चलें जाएंगे हम तेरी यादों से
तुम्हारें बात ना करने की वज़ह से
ढूंढ नहीं पाओगे तुम हमें कभी ज़माने में
आसुओं को रोक नहीं पाओगे अपने पत्थर के दिल से।



Kahi dur chale jayenge ham teri yado se,
Tumhare baat na karne ki vajah se,
Dhundh nahi paoge tum hame kabhi jamane me,
Aasuo ko nahi rok paoge apne patthar ke dil se.



ख्वाब था तुझे पाने का,
अहसास था तेरे दिल दुखाने का,
यूँ ही दिल तोडना तेरी फितरत हैं,
या शौख हैं दिलो को आजमाने का!



Khwab tha tuje pane ka,
Ehsas tha tere dil dukhane ka,
Yu hi dil todna teri fitrat hain,
Ya shaukh hain dilo ko aajmane ka.



वो मुझसे ज्यादा चाहेगा इसे कुछ
दिनों में ये भरम टूट जायेगा ,मैं ज़रूर
याद आऊंगा उस बेवफा को जब
उसका साथ बेवजह उस से रूठ जायेगा।



Vo mujse jyada chahega ise kuchh
Dino mai ye bharam tut jayega , mai jarur
Yad aaunga us bevafa ko jab
Uska sath bevajah us se ruth jayega.



निगाहें मिल जाती हे तो इश्क़ हो जाता हे
पलखे उठे तो इज़हार हो जाता है
ना जाने क्या नशा हे मोहब्बत में
के कोई अनजान भी ज़िन्दगी का
हक़दार बन जाता हे



Nigahe mil jati hai to ishk ho jata hai
Palkhe uthe to izhar ho jata hai
Na jane kya nasha hai mohabbat mai
Ke koi anjan bhi jindagi ka
Hakdar ban jata hai.



दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,
ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,
मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।



Dil ke dariya mai dhadkan ki kashti hai,
Khvabo ki duniya mai yadon ki basti hai,
Mohabbat ke bajar mai chahat ka souda hai,
Vafa ki kimat se to bevafai sasti hai.



दिल में बसे हो जरा खयाल रखना
वक्त मिल जाए तो याद करना
हमें तो आदत है आपको याद करने की
आप को बुरा लगे तो माफ करना



Dil mai base ho jara khayal rakhna
Vakt mil jaye to yad karna
Hame to aadat hai aapko yad karne ki
Aapko bura lage to maf karna.



I Hate You Shayari



नयनों से नैन मिलाकर महोब्बत का
इजहार करूँ बन कर ओस की बुँदे
जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ संवर जाएगी
तेरी मेरी जिन्दगी इश्क के सफर में ,
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे
पे ऐतबार करूँ



Nayno se nain milakar mohabbat ka
Izhar karu bankar os ki bunde
Jindagi teri gulzar karun savar jayegi
Teri meri jindagi ishq ke safar mai,
Tham le tu hath mera, mai tere har vade
pe atbar karun.



उल्फत में अक्सर ऐसा होता है;
आँखे हंसती हैं और दिल रोता है;
मानते हो तुम जिसे मंजिल अपनी;
हमसफर उनका कोई और होता है…



Ulfat mai aksar aaisa hota hai;
Aankhen hasti hai aaur dil rota hai;
Mante ho tum jise manjil aapni
Hamsafar unka koi aaur hota hai.



ढूंढ तो लेते उन दोस्तों को हम भी शहर
में भीड़ इतनी भी न थी, साहब
पर रोक दी तलाश हमने क्योंकि …
वो खोये नहीं थे, बदल गये थे ।*



Dhundh to lete un dosto ko ham bhi shahar
Mai bhid itni bhi na thi, sahab
Par rok di talash hamne kyoki,
Vo khoye nahi the, badal gaye the.



लोग जरूरत के मुताबिक हमारा इस्तेमाल करते है,
और हम ये समझते है कि,
वो हमें पसंद करते है यही तो भरम है जिंदगी का !



Log jarurat ke mutabik hamara Istemal karte hain,
Aur ham ye samjate hain ki,
Vo hame pasand karte hain yahi to bharam hain jindagi ka.



रिश्ते निभाने के लिए बुद्धि नहीं
दिल की शुद्धि होनी चाहिये,
सत्य कहो, स्पष्ट कहो,सम्मुख कहो,
जो अपना हुआ तो समझेगा,
जो पराया हुआ तो छुटेगा!



Riste nibhane ke liye buddhi nahi,
Dil ki shuddhi honi chahiye,
Satya kaho spast kaho sammukh kaho,
Jo apna hua to samjega,
Jo paraya hua to chutega.



ज़ख़्म जब मेरे सीने के भर जाएँगे;
आँसू भी मोती बनकर बिखर जाएँगे;
ये मत पूछना किस किस ने धोखा दिया
वरना कुछ अपनो के चेहरे उतर जाएँगे।



Jakhm jab mere sine me bhar jayenge,
Aanshu bhi moti bankar bikhar jayenge;
Ye mat puchhna kis kis ne dhokha diya
Varna kuchh apno ke chehre utar jayenge.



टुटा हुआ फूल खुशबु दे जाता है ,
बिता हुआ कल यादें दे जाता है ,
हर शख्स का अपना अपना अंदाज होता है,
कोई जिंदगी में प्यार ,
तो कोई प्यार में जिंदगी दे जाता है…!!!



Tuta hua ful khusbu de jata hain,
Bita hua kal yade de jata hain
Har shakhs ka apna apna andaj hota hain,
Koi jindagi me pyar,
To koi pyar me jindagi de jata hain.



I Hate You Shayari



वो कहते थे हमारी मुस्कान बहुत अच्छी है,
वो सच ही कहते थे,
इसिलए तो अपने साथ वो हमें नहीं पर,
हमारी मुस्कान ले गये।



Vo kahte the hamari muskan bahut acchi hain,
Vo sach hi kahte the,
Isaliye to apne sath vo hame nahi par,
Hamari muskan le gaye.



मुझे दफनाने से पहले मेरा दिल निकाल कर उसे दे देना,
मैं नही चाहता के वो खेलना छोङ दे



Muje dafnane se pahle mera dil nikal kar use de dena,
Main nahi chahta ke vo khelna chod de.



काश वो पल संग बिताए न होते,
जिनको याद कर के ये आँसू आये ना होते,
खुदा को अगर इस तरह दूर ले जाना ही था,
तो इतनी गहराई से दिल मिलाए ना होते!



Kash vo pal sang bitaye na hote,
Jinko yaad kar ke ye aasoo aaye na hote,
Khuda ko agar is tarah dur le jana hi tha,
To itani gahrai se dil milaye na hote.



जिंदगी में दो चीज़े हमेशा टूटने के लिए ही होती हैं,
सांस और साथ सांस टूटने से तो इंसान ही बार मरता है,
पर किसी का साथ टूटने से इंसान पल-पल मरता है !



Jindagi me hamesha do chize tutane ke liye hi hoti hain,
Sans aur sath sans tutane se to insan hi baar marta hain,
Par kisi ka sath tutane se insan pal-pal marta hain.



तूने फेसले ही फासले बढाने वाले किये थे,
वरना कोई नहीं था तुजसे ज्यादा करीब मेरे।



Tune fesle hi fasle bujane vale kiye the,
Varna koi nahi tha tujase jyada karib mere.



उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था,
भूल गए थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती…!!



Use kismat samjakar sine se lagaya tha,
Bhul gaye the ke kismat badlate der nahi lagti.



दोस्ती का फ़र्ज़ कुछ इस तरह निभाया जाये,
अगर रहीम रहे भूखा तो राम से भी खाया ना जाये !!



Dosti ka farj kuch is tarah nibhaya jaye,
Agar rahim rahe bhukha to ram se bhi khaya na jaye.



जितना डर कोरोना से लग रहा है,
अगर उतना डर कर्मों से भी लगने लगे,
तो दुनिया अपने आप स्वर्ग बन जाए !!



Jitana dar corona se lag raha hain,
Agar utna dar karmo se bhi lagne lage,
To dunia apne aap swarg ban jaye.



I Hate You Shayari



परिवर्तन से कभी ना डरें,
जितना आप खो रहे हो उससे ज्यादा
और बेहतर आपको जरुर मिलेगा !!



Parivartan se kabhi na dare,
Jitna aap kho rahe ho usase jyada,
Aur behtar aapko jarur milega.



जब जमीर ही गुलामी का आदी हो जाये,
तब ताकत कोई मायने नहीं रखती !!



Jab jamir hi gulami ka aadi ho jaye,
Tab takat koi mayne nahi rakhti.



जो तकलीफ तुम खुद बर्दास्त नहीं कर सकते,
वो किसी दुसरे को भी मत दो !!



Jo takleef tum khud bardast nahi kar sakte,
Vo kisi dusare ko bhi mat do.



कोरोना ने इंसान को रोटी की अहमियत सीखा दी,
बेहिसाब फेंकने वाले अब हिसाब से खाने लगे !!



Corona ne insan ko roti ki ahmyat sikha di,
Behisab fekne vale ab hisab se khane lage.



जीवन में दो व्यक्ति जीवन को,
नयी दिशा दे जाते है,
एक वह जो मौका देता है,
और दूसरा वह जो धोखा देता है!



Jivan me do vyakti jivan ko,
Nayi disha de jate hain,
Ek vah jo mauka deta hain,
Aur dusra vah jo dhoka deta hain.



जो समझाए भी और समझे भी,
वो ही जीवन में सबसे करीब होते है !



Jo samjaye bhi aur samje bhi,
Vo hi jivan me sabse kareeb hote hain.



सोचने दे ज़माने को जो सोचना है,
अगर तेरा दिल सच्चा है तो नाज़ कर खुद पर !!



Sochne de jamane ko jo sochna hain,
Agar tera dil saccha hain to naj kar khud par.



किसी झूठ से दिलासा मिलने से बेहतर है,
सच से तकलीफ पहुँचे !!



Kisi juth se dilasa milne se bahetar hain,
Sach se takleef pahuche.



समय, हर समय को बदल देता है
सिर्फ समय को, थोड़ा समय दीजिये!



Samay har samay ko badal deta hain,
Sirf samay ko thoda samay dijiye.



अगर बेवफाओं की अलग ही दुनिया होती तो…
मेरे वाली वहा की रानी होती !



Agar bewfao ki alag hi duniya hoti to,
Mere vali vaha ki rani hoti.



हजारों मंजिले होगी हजारों कारवाँ होंगे,
निगाहें हमकों ढूढेगी, पता नही हम कहा होंगे!



Hajaro manjil hogi hajaro karva honge,
Nigahe hamko dhundhegi pata nahi ham kaha hoge.



सिर्फ चाहा ही नही तुझको पाना चाहता हूँ,
दुःख द्रर्द जिन्दगी का बांटना चाहता हूँ!



Sirf chaha hi nahi tujako pana chahta hu,
Dukh dard jindagi ka batna chahta hu.



कुछ तो ख्याल करो अपना कोई गम ना करो,
तुम शोख जवानी पर कुछ तो रहम करो!



Kuch to khayal karo apna koi gam na karo,
Tum shokh javani par khuch to raham karo.



भाई बोलने का हक़ मैंने सिर्फ दोस्तों को दिया है,
वरना दुश्मन तो आज भी हमें,
बाप के नाम से पहचानते हैं!



Bhai bolne ka hak sirf maine dosto ko diya hain,
Varna dushman to aaj bhi hame,
Baap ke name se pahchante hain.



इतना मगरूर मत बन मुझे वक्त कहते हैं,
मैंने कई बादशाहो को दरबान बनाया हैं!



Itna magrur mat ban muje vakt kahte hain,
Maine kai badshaho ko darban banaya hain.



दोस्तों बाप अमीर हो या ग़रीब
औलाद के लिए बादशाह होता है!



Dosto baap amir ho ya gareeb,
Aulad ke liye badshah hota hain.



मेरी तलाश का है जुर्म या मेरी वफा का क़सूर,
जो दिल के करीब आया वही बेवफा निकला।



Meri talash ka hain jurm ya meri vafa ka hain kasoor,
Jo dil ke kareeb aaya vahi bewfa nikla.



मेरी वफा फरेब थी मेरी वफा पे खाक डाल,
तुझसा ही कोई बावफा तुझको मिले खुदा करे।



Meri vafa kareb thi meri vafa pe khak dal,
Tujasa hi koi babfa tujko mile khuda kare.



मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।



Mil hi jayega koi na koi tut ke chahne vala,
Ab shahar ka shahar to bewfa ho nahi sakta.



ज़ज़बात पे क़ाबू वो भी मोहब्बत में,
तूफ़ान से कहते हो चुपचाप गुज़र जाओ!



Jajbat pe kabu vo bhi mahobbat me,
Tufan se kahte ho chupchap gujar jao.



मोहब्बत से भरी कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते हैं।



Mahobbat se bhari koi gajal use pasand nahi,
Bevfai ke har sher pe vo dad diya karte hain.



आख़िर तुम भी आइने की तरह ही निकले,
जो भी सामने आया तुम उसी के हो गए।



Aakhir tum bhi aaene ki tarah hi nikle,
Jo bhi samne aaya tum usi ke ho gaye.



काम आ सकीं ना अपनी वफ़ाएं तो क्या करें,
उस बेवफा को भूल ना जाएं तो क्या करें।



Kam aa saki na apni vafae to kya kare,
Us bewfa ko bhul na jaye to kya kare.



मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,
ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।



Mahobbat se riha hona jaruri ho gaya hain,
Mera tujase juda hona jaruri ho gaya hain,
Vafa ke tajurbe karte hue to umra gujari,
Jara sa bewfa hona jaruri ho gaya hain.



उसने महबूब ही तो बदला है फिर ताज्जुब कैसा,
दुआ कबूल ना हो तो लोग खुदा तक बदल लेते है।



Usane mahbub hi to badla hain fir jajjub kaisa,
Dua kabul na ho to log khuda tak badal lete hain.



हमारे जीने का तरीका थोड़ा अलग है,
हम उमीद पर नहीं अपनी जिद पर जीते है!!



Hamare jine ka tarika thoda alag hain,
Ham ummid par nahi apni jidd par jite hain.



कुछ तो बेवफाई है मुझ में भी,
जो अब तक जिंदा हूँ तेरे बग़ैर।



Kuch to bewfai hain muj me bhi,
Jo ab tak jinda hu tere bagair.



हम बेवफा हैं ऐलान किये देते हैं,
चल तेरे काम को आसान किये देते हैं।



Ham bewfa hain elan kiye dete hain,
Chal tere kam ko aasan kiye dete hain.



जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।



Jate jate uske aakhri alfaj yahi the,
Ji sako to ji lena mar jao to behtar hain.



वफा के बदले बेवफाई ना दिया कर,
मेरी उमीद ठुकरा कर इन्कार ना किया कर,
तेरी मौहब्बत में हम सब कुछ गवां बैठे,
जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया कर।



Vafa ke badle bevfai na kiya kar,
Meri ummid thukra kar inkar na kiya kar,
Teri mahibbat me ham sab kuch gava baithe,
Jaan chali jayegi imtihan na liya kar.



हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,
होने लगे हो कुछ-कुछ बेवफा से तुम।



Hamse na kariye baate yu berukhi se sanam,
Hone lage ho kuch-kuch bewfa se tum.



बेवफायी का मौसम भी अब यहाँ आने लगा है,
वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगा है।



Bevfai ka mausam bhi ab yaha aane laga hain,
Vo fir se kisi aur ko dekh kar muskurane laga hain.



सुनो भाभी जी अगर मेरा भाई,
आपके प्यार चक्कर मे ना पड़ा होता तो वो,
आज աօʀʟɖ का ռօ.1 बादशाह होता!



Suno bhabhi ji agar mera bhai,
Aapke pyaar chakkar me na pada hota to vo,
Aaj WORLD ka no.1 badshah hota.



जो हुकुम करता है वो इल्तज़ा भी करता है,
आसमान भी कहीं जाकर झुका करता है,
और तू बेवफा है तो ये खबर भी सुन ले,
इन्तज़ार मेरा कोई वहाँ भी करता है।



Jo hukum karta hain vo iltja bhi karta hain,
Aasman bhi kahi jakar juka karta hain,
Aur tu bewfa hain to ye khabar bhi sun le,
Intezar mera koi vaha bhi karta hain.



शिकार तो सभी करते हैं लेकिन,
नवाबों से बेहतर शिकार कोई नहीं करता!



Shikar to sabhi karte hain lekin,
Navabo se bahetar shikar koi nahi karta.



सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
​हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है।



Sirf ek hi baat sikhi in husn valo se hamne,
Haseen jiski jitani ada hain vo utna hi bewfa hain.



तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,
ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।



Tum agar yaad trakhoge to inayat hogi,
Varna hamko kaha tum se shikayat hogi,
Ye to vahi bewfa logo ki duniya hain,
Tum agar bhul bhi jao jo rivayat hogi.



तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,
हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते हैं।



Teri bewfai ne hamara e hal kar diya hain,
Ham nahi rote log hame dekh kar rote hain.



खो गयी मेरी मोहब्बत, बेवफ़ाई के दलदल में,
मगर इन आँखो को अब भी वफ़ा की तलाश है।



Kho gayi meri mahobbat bewfai ki daldal me,
Magar in aankho ko ab bhi vafa ki talash hain.



गूलाम हूं अपने घर के संस्कारों का,
वरना मै भी लोगों को उनकी,
औकात दिखाने का हूनर रखता हुं!



Gulam hu apne ghar ke sanskaro ka,
Varna main bhi logo ko unki,
Aukat dikhane ka hunar rakhta hu.



पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफ़ाई,
बड़ी तरकीब से एक शख्स ने तबाह किया।



Pahle ishq fir dhokha fir beewfai,
Badi tarkeeb se ek shaks ne tabah kiya.



तेरी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की,
हम बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे।



Teri to fitrat thi sabse mahobbat karne ki,
Ham bevajah khud ko khushnaseeb samajne lage.



सुनो जिसकी फितरत थी बगावत करना,
हमने उस दिल पे हुक़ूमत की है!



Suno jisaki fitrat thi bagavat karna,
Hamne us dil pe hukumat ki hain.



हो सके तो मुड़ कर देख लेना जाते जाते,
तेरे आने के भरम में ज़िन्दगी गुज़ार लेंगे।



Ho sake to mud kar dekh lena jate jate,
Tere aane ke bharam me jindagi gujar lenge.



महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,
ये दुनिया की रस्म है मोहब्बत न समझ लेना।



Mahfil me gale mil ke vo dhire se kah gaye,
Ye duiya ki rasm hain mahobbat na samaj lena.



सुना है की समन्दर को बहुत गुमान आया है,
उधर ही ले चलो कश्ती जिधर तूफ़ान आया है!



Suna hain ki samndar ko bahut guman aaya hain,
Udar hi le chalo kashti jidar tufan aaya hain.



चल पड़ा हूँ अब मैं भी ज़माने के उसूलों पे,
अब मैं भी अपनी बातों से मुकर जाता हूँ!



Chal padaa hu ab main bhi jamane ke usulo pe,
Ab bhi me bhi apni bato se mukar jata hu.



दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,
शुक्र है की यार ही बेवफा निकला।



Dil bhi gustakh ho chala tha bahut,
Shukra hain ki yaar hi bewfa nukla.



कुछ अलग ही करना है तो वफ़ा करो दोस्त,
बेवफाई तो सबने की है मज़बूरी के नाम पर।



Kuch alag hi karna hain to vafa karo dost,
Bewfai to sabne ki hain majburi ke name par.



जिना है तो ऐसे जीओ की,
बाप को भी लगे की मैने एक शेर पाला है..



Jina hain to ese jio ki,
Baap ko bhi lage ki maine ek sher pala hain.



इंतजार हम सारी ऊम्र कर लेंगे
बस खूदा करे तू बेवफा न निकले।



Intezar ham sari umra kar lenge,
Bas khuda kare tu bewfa na nikle.



मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ,
पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।



Meri aankhose bahne vala e aavara sa aansu,
Puch raha hain ki palko se teri bewfai ki vajah.



खरीद लेंगे सबकी सारी उदासियाँ दोस्तों,
सिक्के हमारे मिजाज़ के चलेंगे जिस रोज !!



Kharid lenge sabki sari udasiya dosto,
Sikke hamare mijaj ke chalenge jis roj.



आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,
आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,
जो गीत लिखे थे कभी प्यार पर तेरे,
वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।



Aap bewfa hoge socha hi nahi tha,
Aap bhi kabhi khafa hoge socha nahi tha,
Jo geet likhe the kabhi pyar par tere,
Vahi geet rusava honge socha hi nahi tha.



हम जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त,
हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते।



Ham jamane me yu hi bewfa mashahur ho gaye dost,
Hajaro chahne vale the kis-kis se vafa karte.



हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तू बेवफाई सिला दिया।



Har bhul teri maaf ki teri har khata ko bhula diya,
Gam hain ki mere pyaar ka tu bewfai sila diya.



बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,
यहाँ मुहब्बत से भी बर्बाद कर देते हैं लोग।



Bewfao ki is duniya me shambhalkar chalna,
Yaha mahobbat se bhi barbad kar dete hain log.



खून मे ऊबाल वो आज भी खानदानी है,
दुनिया हमारे शौक की नहीं,
हमारे तेवर की दिवानी है!



Khun me ubal vo aaj bhi khandani hain,
Duniya hamare shauk ki nahi,
Hamare tevar ki divani hain.



कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है।



Kaise bura kah du teri bevfai ko,
Yahi to hain jisne muje mashahur kiya hain.



हम तो जल गये उसकी मोहब्बत में मोमकी तरह,
फिर भी कोई बेवफा कहे तो उसकी वफ़ा को सलाम।



Ham to jal gaye usaki mahobbat me momki tarah,
Fir bhi koi bewfa kahe to usaki vafa ko salam.



मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,
प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,
दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,
प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम।



Meri vafa ke kabil nahi ho tum,
Pyar mile ese insan nahi ho tum,
Dil kya tum par etbar karega,
Pyaar me dhokha diya ese bewfa ho tum.



उँगलियाँ आज भी इसी सोच में गुम हैं,
कि कैसे उसने नए हाथ को थामा होगा।



Ungaliya aaj bhi isi soch me gum hain,
Ki kaise usane naye hath ko thama hoga.



I Hate You Nafrat shayari



ढूंढ़ तो लेते अपने प्यार को हम,
शहर में भीड़ इतनी भी न थी,
पर रोक दी तलाश हमने,
क्योंकि वो खोये नहीं बदल गए थे।



Dhundh to lete apne pyaar ko ham,
Shahar me bhid itani bhi na thi,
Par rok di talash hamne,
Kyoki vo khoye nahi badal gaye the.



जाते जाते उसने पलटकर सिर्फ इतना कहा मुझसे,
मेरी बेवफाई से ही मर जाओगे या मार के जाऊं।



Jate jate usane palatkar sirf itana kaha mujase,
Meri bewfai se hi mar jaoge ya mar ke jau.



जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है।



Jab tak na lage ek bewfai ki thokar,
Har kisi ko apne mahbub pe naj hota hain.



लोग आँखों में आँखें डाल कर इश्क़ का इज़हार करते है,
हमारी तो पलकें ही झुक जाती है तुम्हारा नाम सुनकर!



Log aankho me aankhe dal kar ishq ka ijhar karte hain,
Hamari to palke hi juk jati hain tumhara name sunkar.



शेर को जगाना ऒर हमे सुलाना किसी के बस की बात नही,
ɦʊʍ वहाँ खड़े होते हॆ जहाँ ʍattɛʀ बड़े होते हॆ!



Sher ko jagana aur hame sulana kisi ke bas ki baat nahi,
Hum vaha khade hote hainjaha matter bade hote hain.



पगली‬ तू कितना भी ना ना बोल ले,
लेकिन तेरी आँखों को देखकर पता चल जाता है,
कि तू सिर्फ मेरी है और मेरी ही रहेगी!



Pagli tu kitna bhi na na bol le,
Lekin teri aankho ko dekhkar pata chal jata hain,
Ki tu sirf meri hain aur meri hi rahegi.



जिगर हो जायेगा छलनी आँखें खूब रोयेंगीं,
बेवफा लोगों से निभा कर के कुछ नहीं मिलता।



Jigar ho jayega chalni aankhe khub royegi,
Bewfa logo se nibha kar ke kuch nahi milta.



हर किसी को मैं खुश रख सकूं वो सलीका मुझे नहीं आता,
जो मैं नहीं हूँ वो दिखने का तरीका मुझे नहीं आता ।



Har kisi ko main khush rakh saku vo salika muje nahi aata,
Jo main nahi hu vo dikhne ka tarika muje nahi aata.



I Hate You Nafrat shayari



समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से
अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।



Samet ke le jao apne juthe vado ke adhure kisse,
Agali mahobbat me tumhe fir unki jarurat padegi.



गम के पास तलवार मैं उम्मीद की ढाल लिए बैठा हूँ,
ऐ जिंदगी तेरी हर चाल के लिए मैं एक चाल लिए बैठा हूँ!



Gam ke pas talvar main ummid ki dhal liye baitha hu,
E jindagi teri har chal ke liye main ek chal liye baitha hu.



हम वो Villan है,
जो शराफत की उम्मीद तो खुद से भी नहीं रखते हैं ।।



Ham vo VILLAN hain,
Jo sharafat ki ummid to khud se bhi nahi rakhte hain.



I Hate You Nafrat shayari



सोचा था नहीं करेंगे अब Post और शायरियां,
लेकिन उनको Online देखा तो अल्फाज़ बगावत कर बैठे ।।



Socha tha nahi karenge ab POST aur shayariya,
Lekin unko ONLINE dekha to alfaj bagavat kar baithe.



रहने दे ये किताब तेरे काम की नहीं,
इस में लिखे हुए हैं वफाओं के तज़करे।



Rahne de e kitab tere kam ki nahi,
Is me likhe hue hain vafao ke tajkare.



मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।



Mere fan ko tarasha hain sabhi ke nek irado ne,
Kisi ki bewfai ne kisi ke juthe vado ne.



हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,
हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,
हर कोई मकसद का तलबगार मिला।



Hame na mahobbat mili na pyaar mila,
Ham ko jo bhi mila bewfa yaar mila,
Apni to ban gai tamasha jindagi,
Har koi maksad ka talabgaar mila.



जैसा भी हूं अच्छा या बुरा अपने लिये हूं,
मै खुद को नही देखता औरो की नजर से..!!



Jaisa bhi hu accha ya bura apne liye hu,
Main khud ko nahi dekhta auro ki najar se.



VIDEO CREDIT :- JAISINGH



AGAR AAPKO HAMARI YE POST I HATE YOU SHAYARI AAPKO AACHA LAGA HO AUR AAPKO PADHNE ME ACCHA LAGA HO TO AAP HAME APNI RAY COMMENT KARKE BATAYE AUR AAPKA REVIEW JARUR HAME DE. KYUKI AAP HAME AACHA REVIEW DENGE TO HAM AAPKE LIYE AUR ACCHI ACCHI SHAYARIYA BANAYENGE.

AAP HAME SOCIAL MEDIA PE BHI FOLLOW KAR SAKTE HAIN.. FACEBOOK , INSTAGRAM , TWITTER , LINKED , PINTREST .



I Hate You I Love You Whatsapp Status Video Download, I Hate Love Status For Whatsapp, I Hate Fake Love Status, I Hate Love Story Status For Whatsapp, I Hate Love Attitude Status In Hindi, I Hate You I Love You Song For Whatsapp Status, I Hate You I Love You Whatsapp Status, I Hate My Love Status, I Hate Love Story Status In Hindi, I Hate U I Love U Whatsapp Status, I Hate Love Story Whatsapp Status, I Hate Love Status For Whatsapp In Hindi, I Hate To Love Status, I Hate Love Status