Khamoshi Shayari In Hindi

Khamoshi Shayari In Hindi

Khamoshi Shayari In Hindi | {499+} ख़ामोशी पर शायरी (December 2021)



Khamoshi Shayari In Hindi – Khamoshi Shayari In Hindi, Sad Emotional Shayari In Hindi On Khamoshi, Teri Khamoshi Shayari In Hindi, Khamoshi Love Shayari In Hindi, Khamoshi Bhari Shayari In Hindi, Khamoshi Par Shayari In Hindi, Khamoshi Shayari Images In Hindi, Meri Khamoshi Shayari In Hindi, Shayari On Khamoshi In Hindi, Best Khamoshi Shayari In Hindi



Meri Khamoshiyon Mein Bhi Fasana Dhoondh Leti Hai,
Badi Shatir Hai Ye Duniya Bahana Dhoondh Leti Hai,
Hakeekat Zid Kiye Baithi Hai Chaknachur Karne Ko,
Magar Har Aankh Phir Sapna Suhana Dhoondh Leti Hai.



मेरी खामोशियों में भी फसाना ढूंढ लेती है,
बड़ी शातिर है ये दुनिया बहाना ढूंढ लेती है,
हकीकत जिद किये बैठी है चकनाचूर करने को,
मगर हर आंख फिर सपना सुहाना ढूंढ लेती है।



Sab Phoolon Ki Juda Kahani Hai,
Khamoshi Bhi Tere Pyar Ki Nishaani Hai,
Na Koyi Zakhm Hai, Phir Bhi Aisa Ehsaas Hai,
Koyi Aaj BhiDil Ke Paas Hai.



सब फूलों की जुदा कहानी है,
खामोशी भी तेरे प्यार की निशानी है,
ना कोई ज़ख्म है, फिर भी ऐसा एहसास है,
कोई आज भी दिल के पास है।



Use Bechain Kar Jayenge Ham Bhi,
Kamoshi Se Guzar Jayenge Ham Bhi,
Hame Chhoone Ki Khwaahish Kaun Karta Hai,
Ki Pal Bhar Me Bikhar Jayenge Ham Bhi.



उसे बेचैन कर जाएंगे हम भी,
ख़मोशी से गुज़र जाएंगे हम भी.
हमे छूने की ख़्वाहिश कौन करता है
कि पल भर में बिखर जाएंगे हम भी।



Jubaan Na Bhi Bole To,
Mushkil Nahin …
Fikr Tab Hoti Hai Jab
Khamoshi Bhi Bolana Chhod De.



जुबान न भी बोले तो,
मुश्किल नहीं…
फिक्र तब होती है जब
खामोशी भी बोलना छोड़ दें।



Tadap Rahe Hai Ham Tumse Ek Alfaaz Ke Liye,
Tod Do Khamoshi Hame Zinda Rakhne Ke Liye.



तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए,
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए।



Khamoshiyan Yun Hi Bebajah Nahi Hoti,
Kuch Dard Bhi Abaj Chheen Liya Karte Hain.



खामोशीयाँ यूं ही बेवजह नहीं होतीं,
कुछ दर्द भी आवाज़ छीन लिया करतें हैं।



Shor Karte Raho Tum Surkhiyon Me Aane Ka,
Humari To Khamoshiyan Bhi Ek Akhbaar Hai.



शोर करते रहो तुम…सुर्ख़ियों में आने का
हमारी तो खामोशियाँ भी एक अखबार है।



Jahan Me Kuchh Sawal Zindagi Ne Aise Bhi Chhode Hain,
Jinaka Jawab Hamare Paas Sirf ‪Khamoshi‬ Hai



जहन में कुछ सवाल जिंदगी ने ऐसे भी छोङे हैं,
जिनका जवाब हमारे पास सिर्फ ‘‪खामोशी‬’ है



Meri Khamoshi Dekhkar Mujhse Ye Zamana Bola,
Teri Sanzeedgi Batati Hai Tujhe Hansne Ka Shauq Tha Kabhi.



मेरी खामोशी देखकर मुझसे ये ज़माना बोला,
तेरी संज़ीदगी बताती है तुझे हँसने का शौक़ था कभी।



Meri Khamoshi Se Kisi Ko Koi Fark Nahin Padta,
Aur Shikayat Me Do Lafj Kah Du To Wo Chubh Jate Hain.



मेरी खामोशी से किसी को कोई फर्क नही पड़ता,
और शिकायत में दो लफ़्ज कह दूं तो वो चुभ जाते हैं।



Ek Umr Guzari Hai Hamne Tumhari Khamoshi Padhte Hue,
Ek Umr Guzar Denge Tumhen Mahsoos Karte Hue.



एक उम्र ग़ुज़ारी है हमने तुम्हारी ख़ामोशी पढते हुए,
एक उम्र गुज़ार देंगे तुम्हें महसूस करते हुए।



Khamoshi Chhupati Hai… Aib Aur Hunar Donon,
Shakhsiyat Ka Andaza Guftagun Se Hota Hai.



ख़ामोशी छुपाती है… ऐब और हुनर दोनों,
शख्सियत का अंदाज़ा गुफ्तगू से होता है।



Kabhi Sawan Ke Shor Ne Madhosh Kiya Tha Mausam,
Aaj Patajhad Me Har Darkht Khamosh Khada Hai.



कभी सावन के शोर ने मदहोश किया था मौसम,
आज पतझड़ में हर दरख़्त… खामोश खड़ा है।



Jab Koi Khayal Dil Se Takrata Hai,
Dil Na Chahkar Bhi Khamosh Rah Jata Hai,
Koi Sab Kuchh Kahkar Pyar Jatata Hai,
Koi Kuchh Na Kahkar Bhi Sab Bol Jata Hai.



जब कोई ख्याल दिल से टकराता है,
दिल न चाह कर भी खामोश रह जाता है,
कोई सब कुछ कह कर प्यार जताता है,
कोई कुछ न कहकर भी सब बोल जाता है।



Log Kehte Hai Samjho To
Khaamoshiyan Bhi Bolti Hai,
Mein Arse Se Khaamosh Hoon
Woh Barson Se Bekhabar Hai



लोग कहते हैं समझो तो
खामोशियां भी बोलती हैं,
अर्से से खामोश हूँ,
वो बरसों से बेखबर है।



Main Khamoshi Tere Man Ki
Tu Ankaha Alafaaz Mera,
Main Ek Uljha Lamha
Tu Rootha Hua Haalaat Mera.



मैं खामोशी तेरे मन की
तू अनकहा अलफाज़ मेरा,
मैं एक उल्झा लम्हा
तू रूठा हुआ हालात मेरा।



Khamoshi Bahut Kuchh Kahti Hai Dost,
Kaano Se Nahin, Ek Baar Dil Se Suno.



ख़ामोशी बहुत कुछ कहती है दोस्त,
कानो से नहीं, एक बार दिल से सुनो।



Khamoshi Se Banate Rahiye Apni Pahachaan,
Hawaein Khud Gunagunaegi Naam Aapaka.



खामोशी से बनाते रहिये अपनी पहचान,
हवाएँ ख़ुद गुनगुनाएगी नाम आपका।



Meri Khamoshiyon Par Bhi Sau Sawal Uth Rahe The,
Do Lafz Kya Bole Mujhe Begairat Bana Diya.



मेरी खामोशियों पर भी सौ सवाल उठ रहे थे,
दो लफ्ज़ क्या बोले मुझे बेगैरत बना दिया।



लोग तो सो लेते हैं जमाने कि चाहेल पहेल में,
मुझे तो तेरी खामोशी सोने नहीं देती।



Yun To Ek Aawaz Dun Aur Bula Lun Tumhen,
Magar Koshish Ye Hai Ki Khamoshi Ko Bhi Aazama Lun Zara.



यूँ तो एक आवाज़ दूँ और बुला लूँ तुम्हें,
मगर कोशिश ये है कि खामोशी को भी आज़मा लूँ ज़रा।



Apni Khamoshi Me Mujhe Kyu Talash Rahe Hain Hujoor,
Apni Dhadakanon Se Poochho Mera Ek Basera bahan Bhi Hai.



अपनी खामोशी में मुझे क्यूँ तलाश रहे है हुजूर,
अपनी धड़कनों से पूछो मेरा एक बसेरा वहां भी है।



Kin Lafjon Mei Likhun, Main Apne Intazaar Ko Tumhen,
Bejubaan Hai Ishq Mera, Aur Dhoondhta Hai Khamoshi Se Tujhe



किन लफ्जों में लिखूँ, मैं अपने इन्तजार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा, और ढूँढता हैं खामोशी से तुझे।



Bheegi Aankho Se Muskurane Ka Maza Aur Hai,
Hanste Hanste Palke Bhigone Ka Maza Aur Hai,
Baat Keh Ke To Koi Bhi Samjh Leta Hai,
Khamoshi Ko Koi Samjhe To Maza Aur Hai.



भीगी आँखों से मुस्कुराने का मजा और है,
हँसते हँसते पलके भिगोने का मजा और है,
बात कह के तो कोई भी समझ लेता है,
खामोशी को कोई समझे तो मजा और है।



Unhen Chahna Hamari Kamajori Hai,
Unse Kah Nahin Pana Hamari Majboori Hai,
Wo Kyon Nahin Samjhte Hamari Khamoshi Ko,
Kya Pyaar Ka Izahaar Karna Jaruri Hai.



उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है,
उनसे कह नहीं पाना हमारी मजबूरी है,
वो क्यों नहीं समझते हमारी खामोशी को,
क्या प्यार का इज़हार करना जरूरी है।



Har Khamoshi Ka Matlab Inkaar Nahin Hota,
Har Nakamyabi Ka Matlab Haar Nahin Hota,
To Kya Hua Agar Ham Tumhen Na Pa Sake,
Sirf Paane Ka Matlab Pyar Nahin Hota.



हर खामोशी का मतलब इंकार नहीं होता,
हर नाकामयाबी का मतलब हार नहीं होता,
तो क्या हुआ अगर हम तुम्हें न पा सके,
सिर्फ पाने का मतलब प्यार नहीं होता।



Gila-Shiqwa Hi Kar Dalo Ke Kuchh Waqt Kat Jaye,
Labon Pe Aapke Yeh Khamoshi Achhi Nahi Lagti.



गिला शिकवा ही कर डालो के कुछ वक़्त कट जाए,
लबो पे आपके यह खामोशी अच्छी नहीं लगती।



Ham To Gum The Kisi Ki Khamoshi Mein,
Aapne Yaad Dilaaya To Wo Waqt Yaad Aaya.



हम तो गुम थे किसी की खामोशी में,
आपने याद दिलाया तो वो वक़्त याद आया।



Bejubaan Mahafil Mein Shor Hone Laga,
Na Jaane Kaun Padh Gaya Khamoshi Meri.



बेजुबां महफिल में शोर होने लगा,
ना जाने कौन पढ़ गया खामोशी मेरी।



तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए !



कुछ तो है हमारे बीच में,
वरना तू खामोश ना होता,
और मैं तेरी खामोशी
पढ़ नहीं रही होती !



चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्तां सुनकर
ख़ामोशी तुम समझोगे नही और
बयां हमसे होगा नही !



बड़े ही पक्के होते हैं सच्ची दोस्ती के रंग
ज़िंदगी के धूप में भी उड़ा नहीं करते !



चाहतों ने किया मुझ पर ऐसा असर
जहाँ देखू में देखु तुझे हमसफ़र
मेरी खामोशियां मेरी ज़ुबान बन गयी
मेरी वैचानिया मेरी दास्तान बन गयी !



खामोशियाँ यूं ही बेवजह नहीं होतीं
कुछ दर्द भी आवाज़ छीन लिया करतें हैं !



रहना चाहते थे साथ उनके पर इस ज़माने ने रहने ना दिया
कभी वक़्त की खामोशी मे ख़ामोश रहे तो
कभी उनकी खामोशी ने कुछ कहने ना दिया !



खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं
और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं !



कभी ख़ामोशी बनते हैं कभी आवाज बनते है
हर तन्हाई के साथी मेरे जज्बात बनते हैं !



खामोशियां तेरी मुझसे बातें करती है,
मेरा हर दर्द और हर आह समझती है !



पता है मजबूर है तू और मै भी
फिर भी आंखें तेरे दीदार को तरसती है !



क्यों करते हो मुझसे इतनी ख़ामोश मोहब्बत,
लोग समझते हैं इस बदनसीब का कोई नहीं !



दर्द हद से ज्यादा हो तो आवाज छीन लेती है
ऐ दोस्त कोई खामोशी बेवजह नहीं होती है !



सारी दुनिया के रूठ जाने से मुझे कोई फर्क नहीं
बस एक तेरा खामोश रहना मुझे तकलीफ देता है !



हकीकत में खामोशी कभी भी चुप नहीं रहती
कभी तुम ग़ौर ​से सुनना बहुत किस्से सुनाती है



तेरी खामोशी अगर तेरी मजबूरी है
तो रहने दे इश्क कौन सा जरुरी है !



किताब सी शख्सियत दे ऐ मेरे खुदा
सब कुछ कह दूँ खामोश रहकर !



जब से ग़मों ने मेरी जिंदगी में
अपनी दुनिया बसाई है
दो ही साथी बचे हैं अपने
एक ख़ामोशी और दूसरी तन्हाई है!



Jab se gamon ne meree jindagee mein
Apanee duniya basaee hai
Do hee saathee bache hain apane
Ek khaamoshee aur doosaree tanhaee hai!



किसी शोर में मेरी आवाज दब गई
मेरी खामोशी दूर तक सुनाई देगी!



चुप रहो, यह अलग बात है कुछ दर्द ऐसे होते हैं
जिन्हें शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।



इश्क की राहों में जिस दिल ने शोर मचा रखा था
बेवफाई की गलियों से आज वो खामोश निकला!



Ishk kee raahon mein jis dil ne shor macha rakha tha
Bevaphaee kee galiyon se aaj vo khaamosh nikala!



चेहरा पढ़ोगे तो जान जाओगे
मौन का क्या अर्थ है?



खामोशी से दर्द सहना अच्छा है
जिनकी याद में दिन भर आंसू बहते हैं
उसके सामने कुछ न कहना अच्छा है!



ये तुफान यूँ ही नहीं आया है
इससे पहले इसकी दस्तक भी आई थी
ये मंजर जो दिख रहा है तेज आंधियों का
इससे पहले यहाँ एक ख़ामोशी भी छाई थी!



Ye tuphaan yoon hee nahin aaya hai
Isase pahale isakee dastak bhee aaee thee
Ye manjar jo dikh raha hai tej aandhiyon ka
Isase pahale yahaan ek khaamoshee bhee chhaee thee



गलत बातें चुपचाप सुनें listen
इसमें बहुत सारे फायदे हैं लेकिन
यह अच्छा नहीं लगता!



किसी की चुप्पी का मतलब इनकार नहीं है
आंखें एक दूसरे से मिलती हैं
हर नज़ारा प्यार नहीं होता।



बड़ी ख़ामोशी से गुज़र जाते हैं
हम एक दूसरे के करीब से
फिर भी दिलों का शोर सुनाई दे ही जाता है!



badee khaamoshee se guzar jaate hain
ham ek doosare ke kareeb se
phir bhee dilon ka shor sunaee de hee jaata hai



कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ
उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की!



मैं कितनी लंबी खामोशी से गुज़रा
आपने उनसे कितना कुछ कहने की कोशिश की!



हम ख़ामोशी से देते हैं ख़ामोशी का जवाब
कौन कहता हैं अब हम बात नहीं करते!



ham khaamoshee se dete hain khaamoshee ka javaab
kaun kahata hain ab ham baat nahin karate



चुप्पी के तहत भ्रम छुपाएं
क्योंकि शोर कभी भी मुश्किलों को कम नहीं करता !!



हमें आपकी खामोशी के लिए रंग चाहिए थे
हमें एक आवाज की तस्वीर बनानी थी!



तेरी ख़ामोशी अगर तेरी मज़बूरी है
तो रहने दे इश्क़ कौन सा जरुरी है!





हम एक लंबी चुप्पी से गुजरे हैं
किसी से कुछ कहने की कोशिश !!



तूफान से पहले की खामोशी की तरह
मिरी बस्ती में आज है ऐसा सन्नाटा!



खामोशी बयां कर देती है सब कुछ
जब दिल का रिश्ता जुड़ जाता है किसी से!



khaamoshee bayaan kar detee hai sab kuchh
jab dil ka rishta jud jaata hai kisee se



खामोशी भी दिल की भाषा है
जहाँ सब कुछ शब्दों में कह दिया जाता है !!



सिर्फ अपनों के प्यार में मत पड़ो
अगर आप नाराज हैं तो आप नाराज हैं तो हमसे शिकायत करें।
खामोश रहने से दिल की दूरियां नहीं पिघलती !



मेरे चुप रहने से नाराज ना हुआ करो
गहरा समंदर हमेशा खामोश होता है !



मोहब्बतें मे नुमाइश की जरूरत नहीं होती
ये तो वो जज्बा है जिसमे खामोशी भी गुनगुनाती है !



चुभता तो बहुत कुछ हैं मुझे भी तीर की तरह
लेकिन खामोश रहता हूँ तेरी तस्वीर की तरह !



इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में
होते होंगे पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं!



ishq ke charche bhale hee saaree duniya mein
hote honge par dil to khaamoshee se hee tootate hain



जब कोई आपसे खामोश रहने की वजह पूछेगा
बहुत कुछ समझाना चाहोगे पर समझा नहीं पाओगे !!



खामोशी पाना भी एक लंबी चुप्पी थी
हमने उनकी सुनी और हमने उनकी भी सुनी!



तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए !



मेरे चुप रहने से नाराज ना हुआ करो
गहरा समंदर हमेशा खामोश होता है !



मोहब्बतें मे नुमाइश की जरूरत नहीं होती
ये तो वो जज्बा है जिसमे खामोशी भी गुनगुनाती है !



चुभता तो बहुत कुछ हैं मुझे भी तीर की तरह
लेकिन खामोश रहता हूँ तेरी तस्वीर की तरह !



कुछ तो है हमारे बीच में,
वरना तू खामोश ना होता,
और मैं तेरी खामोशी
पढ़ नहीं रही होती !



चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्तां सुनकर
ख़ामोशी तुम समझोगे नही और
बयां हमसे होगा नही !



बड़े ही पक्के होते हैं सच्ची दोस्ती के रंग
ज़िंदगी के धूप में भी उड़ा नहीं करते !



चाहतों ने किया मुझ पर ऐसा असर
जहाँ देखू में देखु तुझे हमसफ़र
मेरी खामोशियां मेरी ज़ुबान बन गयी
मेरी वैचानिया मेरी दास्तान बन गयी !



खामोशियाँ यूं ही बेवजह नहीं होतीं
कुछ दर्द भी आवाज़ छीन लिया करतें हैं !



रहना चाहते थे साथ उनके पर इस ज़माने ने रहने ना दिया
कभी वक़्त की खामोशी मे ख़ामोश रहे तो
कभी उनकी खामोशी ने कुछ कहने ना दिया !



खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं
और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं !



कभी ख़ामोशी बनते हैं कभी आवाज बनते है
हर तन्हाई के साथी मेरे जज्बात बनते हैं !



खामोशियां तेरी मुझसे बातें करती है,
मेरा हर दर्द और हर आह समझती है !



पता है मजबूर है तू और मै भी
फिर भी आंखें तेरे दीदार को तरसती है !



क्यों करते हो मुझसे इतनी ख़ामोश मोहब्बत,
लोग समझते हैं इस बदनसीब का कोई नहीं !



दर्द हद से ज्यादा हो तो आवाज छीन लेती है
ऐ दोस्त कोई खामोशी बेवजह नहीं होती है !



सारी दुनिया के रूठ जाने से मुझे कोई फर्क नहीं
बस एक तेरा खामोश रहना मुझे तकलीफ देता है !



हकीकत में खामोशी कभी भी चुप नहीं रहती
कभी तुम ग़ौर ​से सुनना बहुत किस्से सुनाती है



तेरी खामोशी अगर तेरी मजबूरी है
तो रहने दे इश्क कौन सा जरुरी है !



किताब सी शख्सियत दे ऐ मेरे खुदा
सब कुछ कह दूँ खामोश रहकर !



जब से ग़मों ने मेरी जिंदगी में
अपनी दुनिया बसाई है
दो ही साथी बचे हैं अपने
एक ख़ामोशी और दूसरी तन्हाई है!



Jab se gamon ne meree jindagee mein
Apanee duniya basaee hai
Do hee saathee bache hain apane
Ek khaamoshee aur doosaree tanhaee hai!



किसी शोर में मेरी आवाज दब गई
मेरी खामोशी दूर तक सुनाई देगी!



चुप रहो, यह अलग बात है कुछ दर्द ऐसे होते हैं
जिन्हें शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।



इश्क की राहों में जिस दिल ने शोर मचा रखा था
बेवफाई की गलियों से आज वो खामोश निकला!



Ishk kee raahon mein jis dil ne shor macha rakha tha
Bevaphaee kee galiyon se aaj vo khaamosh nikala!



चेहरा पढ़ोगे तो जान जाओगे
मौन का क्या अर्थ है?



खामोशी से दर्द सहना अच्छा है
जिनकी याद में दिन भर आंसू बहते हैं
उसके सामने कुछ न कहना अच्छा है!



ये तुफान यूँ ही नहीं आया है
इससे पहले इसकी दस्तक भी आई थी
ये मंजर जो दिख रहा है तेज आंधियों का
इससे पहले यहाँ एक ख़ामोशी भी छाई थी!



ye tuphaan yoon hee nahin aaya hai
isase pahale isakee dastak bhee aaee thee
ye manjar jo dikh raha hai tej aandhiyon ka
isase pahale yahaan ek khaamoshee bhee chhaee thee



गलत बातें चुपचाप सुनें listen
इसमें बहुत सारे फायदे हैं लेकिन
यह अच्छा नहीं लगता!



किसी की चुप्पी का मतलब इनकार नहीं है
आंखें एक दूसरे से मिलती हैं
हर नज़ारा प्यार नहीं होता।



बड़ी ख़ामोशी से गुज़र जाते हैं
हम एक दूसरे के करीब से
फिर भी दिलों का शोर सुनाई दे ही जाता है!



Badee khaamoshee se guzar jaate hain
Ham ek doosare ke kareeb se
Phir bhee dilon ka shor sunaee de hee jaata hai



कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ
उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की!



मैं कितनी लंबी खामोशी से गुज़रा
आपने उनसे कितना कुछ कहने की कोशिश की!



हम ख़ामोशी से देते हैं ख़ामोशी का जवाब
कौन कहता हैं अब हम बात नहीं करते!



Ham khaamoshee se dete hain khaamoshee ka javaab
Kaun kahata hain ab ham baat nahin karate



चुप्पी के तहत भ्रम छुपाएं
क्योंकि शोर कभी भी मुश्किलों को कम नहीं करता !!



हमें आपकी खामोशी के लिए रंग चाहिए थे
हमें एक आवाज की तस्वीर बनानी थी!



तेरी ख़ामोशी अगर तेरी मज़बूरी है
तो रहने दे इश्क़ कौन सा जरुरी है!



हम एक लंबी चुप्पी से गुजरे हैं
किसी से कुछ कहने की कोशिश !!



तूफान से पहले की खामोशी की तरह
मिरी बस्ती में आज है ऐसा सन्नाटा!



खामोशी बयां कर देती है सब कुछ
जब दिल का रिश्ता जुड़ जाता है किसी से!



Khamoshee bayaan kar detee hai sab kuchh
Jab dil ka rishta jud jaata hai kisee se



खामोशी भी दिल की भाषा है
जहाँ सब कुछ शब्दों में कह दिया जाता है !!



सिर्फ अपनों के प्यार में मत पड़ो
अगर आप नाराज हैं तो आप नाराज हैं तो हमसे शिकायत करें।
खामोश रहने से दिल की दूरियां नहीं पिघलती !



इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में
होते होंगे पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं!



Ishq ke charche bhale hee saaree duniya mein
Hote honge par dil to khaamoshee se hee tootate hain



जब कोई आपसे खामोश रहने की वजह पूछेगा
बहुत कुछ समझाना चाहोगे पर समझा नहीं पाओगे !!



खामोशी पाना भी एक लंबी चुप्पी थी
हमने उनकी सुनी और हमने उनकी भी सुनी!



तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए !



मेरे चुप रहने से नाराज ना हुआ करो
गहरा समंदर हमेशा खामोश होता है !



मोहब्बतें मे नुमाइश की जरूरत नहीं होती
ये तो वो जज्बा है जिसमे खामोशी भी गुनगुनाती है !



चुभता तो बहुत कुछ हैं मुझे भी तीर की तरह
लेकिन खामोश रहता हूँ तेरी तस्वीर की तरह !



कुछ तो है हमारे बीच में,
वरना तू खामोश ना होता,
और मैं तेरी खामोशी
पढ़ नहीं रही होती !



चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्तां सुनकर
ख़ामोशी तुम समझोगे नही और
बयां हमसे होगा नही !



बड़े ही पक्के होते हैं सच्ची दोस्ती के रंग
ज़िंदगी के धूप में भी उड़ा नहीं करते !



चाहतों ने किया मुझ पर ऐसा असर
जहाँ देखू में देखु तुझे हमसफ़र
मेरी खामोशियां मेरी ज़ुबान बन गयी
मेरी वैचानिया मेरी दास्तान बन गयी !



खामोशियाँ यूं ही बेवजह नहीं होतीं
कुछ दर्द भी आवाज़ छीन लिया करतें हैं !



रहना चाहते थे साथ उनके पर इस ज़माने ने रहने ना दिया
कभी वक़्त की खामोशी मे ख़ामोश रहे तो
कभी उनकी खामोशी ने कुछ कहने ना दिया !



खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं
और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं !



कभी ख़ामोशी बनते हैं कभी आवाज बनते है
हर तन्हाई के साथी मेरे जज्बात बनते हैं !



खामोशियां तेरी मुझसे बातें करती है,
मेरा हर दर्द और हर आह समझती है !



पता है मजबूर है तू और मै भी
फिर भी आंखें तेरे दीदार को तरसती है !



क्यों करते हो मुझसे इतनी ख़ामोश मोहब्बत,
लोग समझते हैं इस बदनसीब का कोई नहीं !



दर्द हद से ज्यादा हो तो आवाज छीन लेती है
ऐ दोस्त कोई खामोशी बेवजह नहीं होती है !



सारी दुनिया के रूठ जाने से मुझे कोई फर्क नहीं
बस एक तेरा खामोश रहना मुझे तकलीफ देता है !



हकीकत में खामोशी कभी भी चुप नहीं रहती
कभी तुम ग़ौर ​से सुनना बहुत किस्से सुनाती है



तेरी खामोशी अगर तेरी मजबूरी है
तो रहने दे इश्क कौन सा जरुरी है !



किताब सी शख्सियत दे ऐ मेरे खुदा
सब कुछ कह दूँ खामोश रहकर !



जब से ग़मों ने मेरी जिंदगी में
अपनी दुनिया बसाई है
दो ही साथी बचे हैं अपने
एक ख़ामोशी और दूसरी तन्हाई है!



Jab se gamon ne meree jindagee mein
Apanee duniya basaee hai
Do hee saathee bache hain apane
Ek khaamoshee aur doosaree tanhaee hai!



किसी शोर में मेरी आवाज दब गई
मेरी खामोशी दूर तक सुनाई देगी!



चुप रहो, यह अलग बात है कुछ दर्द ऐसे होते हैं
जिन्हें शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।



इश्क की राहों में जिस दिल ने शोर मचा रखा था
बेवफाई की गलियों से आज वो खामोश निकला!



Ishk kee raahon mein jis dil ne shor macha rakha tha
Bevaphaee kee galiyon se aaj vo khaamosh nikala!



चेहरा पढ़ोगे तो जान जाओगे
मौन का क्या अर्थ है?



खामोशी से दर्द सहना अच्छा है
जिनकी याद में दिन भर आंसू बहते हैं
उसके सामने कुछ न कहना अच्छा है!



ये तुफान यूँ ही नहीं आया है
इससे पहले इसकी दस्तक भी आई थी
ये मंजर जो दिख रहा है तेज आंधियों का
इससे पहले यहाँ एक ख़ामोशी भी छाई थी!



Ye tuphaan yoon hee nahin aaya hai
Isase pahale isakee dastak bhee aaee thee
Ye manjar jo dikh raha hai tej aandhiyon ka
Isase pahale yahaan ek khaamoshee bhee chhaee thee



गलत बातें चुपचाप सुनें listen
इसमें बहुत सारे फायदे हैं लेकिन
यह अच्छा नहीं लगता!



किसी की चुप्पी का मतलब इनकार नहीं है
आंखें एक दूसरे से मिलती हैं
हर नज़ारा प्यार नहीं होता।



बड़ी ख़ामोशी से गुज़र जाते हैं
हम एक दूसरे के करीब से
फिर भी दिलों का शोर सुनाई दे ही जाता है!



Badee khaamoshee se guzar jaate hain
Ham ek doosare ke kareeb se
Phir bhee dilon ka shor sunaee de hee jaata hai



कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ
उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की!



मैं कितनी लंबी खामोशी से गुज़रा
आपने उनसे कितना कुछ कहने की कोशिश की!



हम ख़ामोशी से देते हैं ख़ामोशी का जवाब
कौन कहता हैं अब हम बात नहीं करते!



Ham khaamoshee se dete hain khaamoshee ka javaab
Kaun kahata hain ab ham baat nahin karate



चुप्पी के तहत भ्रम छुपाएं
क्योंकि शोर कभी भी मुश्किलों को कम नहीं करता !!



हमें आपकी खामोशी के लिए रंग चाहिए थे
हमें एक आवाज की तस्वीर बनानी थी!



हम एक लंबी चुप्पी से गुजरे हैं
किसी से कुछ कहने की कोशिश !!



तूफान से पहले की खामोशी की तरह
मिरी बस्ती में आज है ऐसा सन्नाटा!



खामोशी बयां कर देती है सब कुछ
जब दिल का रिश्ता जुड़ जाता है किसी से!



khaamoshee bayaan kar detee hai sab kuchh
Jab dil ka rishta jud jaata hai kisee se



खामोशी भी दिल की भाषा है
जहाँ सब कुछ शब्दों में कह दिया जाता है !!



सिर्फ अपनों के प्यार में मत पड़ो
अगर आप नाराज हैं तो आप नाराज हैं तो हमसे शिकायत करें।
खामोश रहने से दिल की दूरियां नहीं पिघलती !



इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में
होते होंगे पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं!



Ishq ke charche bhale hee saaree duniya mein
Hote honge par dil to khaamoshee se hee tootate hain



जब कोई आपसे खामोश रहने की वजह पूछेगा
बहुत कुछ समझाना चाहोगे पर समझा नहीं पाओगे !!



खामोशी पाना भी एक लंबी चुप्पी थी
हमने उनकी सुनी और हमने उनकी भी सुनी!



तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए



VIDEO CREDIT :- Duniyahaigol



Hello dosto ham aapke liye leke aaye hain Khamoshi Shayari In Hindi. to dosto aap is shayari ko padhiye aur esi aue post padhne ke liye hamari site se jude rahe.

Aap hame social media pe bhi follow kar sakte hain. FACEBOOK , INSTAGRAM , LINKED , PINTREST , TWITTER .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *